OMG:एक बार में 30लोगों का खाना खा जाता ये इंसान, 3 Kg चावल, 4 ली. दूध 100 रोटी एक टाइम की डाइट

क्या कोई आम इंसान एक दिन में 3 किलो चावल, 4 किलो दूध, 2-2KG मटन और चिकेन के अलावा 100 रोटी खा सकता है? शायद आपका जवाब नहीं होगा, लेकिन आज हम आपको ऐसे ही भारी-भरकम इंसान की कहानी सुना रहे हैं.

 

उसकी डाइट इतनी है कि वह एक बार में 30 इंसानों का खाना अकेले चट कर जाता है. आपको जानकर यकीन नहीं होगा कि लगभग 2 क्विंटल वजन का यह शख्स सच में इतना भोजन कर सकता है. बिहार के कटिहार जिले का रफीक ऐसा ही है. अपने भारी-भरकम शरीर, मोटापा और खान-पान की वजह से इलाके के लोग उसे ‘मोटा भाई‘ कहते हैं.

 

images 2022 06 16T125832.249

 

रफीक बिहार के कटिहार जिले के मनसाही जयनगर का रहने वाला है. अभी उनकी उम्र 30 साल है, लेकिन वजन लगभग 2 क्विंटल यानी 200 किलो है. लगातार बढ़ते वजन के कारण बुलेट जैसी दमदार और पावरफुल बाइक भी अब उनका बोझ उठाने में हांफने लगी है. रफीक का मोटापा अब उनके लिए बड़ी परेशानी का कारण बन गया है. शादीशुदा होने के बाद भी बाल-बच्चे नहीं हो रहे हैं और सामाजिक कार्यों में लोग उन्हें बुलाने से हिचकते हैं.

 

मोटापे के कारण दावत में नहीं बुलाते
खाने-पीने के शौकीन रफीक हर दिन तीन किलो चावल का भात, रोटी खाने की स्थिति में 2 से तीन किलो आटा की रोटी, 2 किलो दूध, डेढ़ से दो किलो मीट-मछली- चिकेन चट कर जाते हैं. वैसे तो रफीक शादीशुदा हैं लेकिन बढ़ते वजन के कारण उनको कोई बाल-बच्चा नहीं है.

 

रफीक का मोटापा अब कई तरह की शारीरिक परेशानी और अभिशाप बनते जा रहा है. कटिहार के जयनगर के रहने वाले ग्रामीण जौहर कहते हैं कि मोटापा और ज्यादा भोजन करने के कारण गांव के लोग अब उन्हें कोई दावत के दौरान बुलाने के लिए सोचता है, या फिर कोई बहाना बनाकर उसे दावत नहीं देते हैं.

 

अनाज का व्यापार करते हैं रफीक
पेशे से अनाज व्यापारी रफीक कहते हैं दुबला होने के लिए उन्होंने कई बार डॉक्टर से संपर्क कर दवा भी ली, लेकिन वह प्रभावी नहीं हुई. मोटापे को बीमारी मानने वाले शहर के प्रसिद्ध डॉक्टर रमन कुमार कहते हैं कि यह लाइलाज बीमारीनहीं है.

 

मगर मोटापा किस कारण से इसको लेकर उचित जांच के बाद उसके अनुसार फिजिकल एक्सरसाइज और दवा से इसको को कंट्रोल किया जा सकता है. डॉक्टर की मानें तो जरूरत पड़ने पर ऐसे मोटापा घटाने के लिए शल्य चिकित्सा की भी मदद ली जा सकती है.