6 साल के बच्चे की डॉक्टर से वसीयत, मुझे कैंसर है मेरे मां -बाप को ना बताना

कहते हैं कि बच्चे जब तकलीफ में होते हैं तो इसकी जानकारी बड़ों के जरूर देते हैं. लेकिन कैंसर (Cancer) से जूझ रहे हैदराबाद (Hyderabad) के इस बच्चे की कहानी सबको भावुक कर रही है.

दरअसल, बच्चे को कैंसर है और उसने डॉक्टर को इस बीमारी के बारे में उसके माता-पिता को नहीं बताने को कहा है. बच्चे का इलाज कर रहे डॉक्टर ने इसे ट्विटर पर शेयर किया, जिसके बाद लोग अब इस बच्चे की कहानी जान पाए.

हैदराबाद के अपोलो हॉस्पिटल में न्यूरोलॉजिस्ट डॉक्टर सुधीर कुमार ने इस पूरे मामले को अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ‘6 साल की उम्र के बच्चे ने मुझसे कहा, डॉक्टर, मुझे कैंसर है और मैं केवल 6 महीने और जीऊंगा, मेरे माता-पिता को इस बारे में मत बताना.’

डॉक्टर ने बताया ‘एक यंग कपल ने ओपीडी में आकर कहा कि उनका बेटा मनु (बदला हुआ नाम) बाहर इंतजार कर रहा है. उसे कैंसर है. कपल ने उनसे रिक्वेस्ट की कि वह नहीं चाहते कि उनके बेटे को उसकी बीमारी का पता चले. कपल भावुक थे. उन्होंने कहा उनके बेटे का इलाज कर दीजिए. मनु को व्हीलचेयर पर लाया गया था.’

मैं मनु से किया वादा नहीं निभा सका: डॉक्टर 

डॉक्टर ने कहा, ‘मैं मनु से किया वादा नहीं निभा सका क्योंकि इस संवेदनशील मुद्दे पर जरूरी था कि परिवार के पास जो भी समय बचा था, एक साथ गुज़ार पाएं.’

बता दें कि एक महीने पहले ही मनु की मौत हुई है और डॉक्टर ने उन्हें पोस्ट के जरिए याद किया है.डॉक्टर ने कहा मेरे लिए वो लम्हा बड़ा दुश्वार रहा कैसे एक 6 साल का बच्चा अपनी मां बाप की तकलीफ को जनता है. आज भी मुझे मनु की बातें याद आती हैं, वो जहां भी है भगवान उसकी आत्मा को शांति दे दे, मुझे अफसोस है कि मैं मनु से किया वादा नहीं निभा सका