वर्ल्ड कप 2023 से बाहर होंगे शिखर धवन! वजह पहाड़ से भी बड़ी है, ये युवा खिलाड़ी बना विलेन

भारतीय टीम के स्टार शुभमन गिल का बल्ला हैदराबाद में खूब गरजा. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के पहले वनडे में दोहरा शतक जमाया और रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी. वह वनडे फॉर्मेट में सबसे कम उम्र में दोहरा शतक बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए.

 

उन्होंने भारत के ही ईशान किशन का रिकॉर्ड तोड़ा. वह एक मामले में तो महान सचिन तेंदुलकर से भी आगे निकल गए. इसी के साथ वह टीम इंडिया के ही एक धुरंधर और अनुभवी बल्लेबाज के लिए ‘दुश्मन’ भी बन गए.

 

hewww

 

गिल का पहला वनडे दोहरा शतक

23 वर्षीय शुभमन गिल ने हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी की. गिल ने इस मुकाबले में 149 गेंदों पर 208 रन बनाए. वह ओपनिंग करने उतरे और दीवार की तरह क्रीज पर जम गए.

 

 

उन्होंने अपनी पारी में 19 चौके और 9 छक्के जड़े. वह पारी के अंतिम ओवर की दूसरी गेंद पर आउट हुए. यह गिल की ही पारी का कमाल था कि भारतीय टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट पर 349 रन का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया.

 

गिल ने सचिन और हेडन को पछाड़ा

पंजाब के रहने वाले शुभमन गिल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ी पारी खेली. उन्होंने इसी के साथ महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ दिया.

 

सचिन के नाम इस टीम के खिलाफ सबसे बड़ी पारी (नाबाद 186) का रिकॉर्ड दर्ज था, जो उन्होंने साल 1999 में हैदराबाद में ही बनाया था. वहीं ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज माइकल हेडन ने साल 2007 में इसी टीम के खिलाफ वनडे में नाबाद 181 रनों की पारी खेली थी. अब गिल सभी से आगे निकल गए हैं.

 

धवन के लिए बने दुश्मन

गिल ने कई रिकॉर्ड बनाए लेकिन वह टीम इंडिया के एक खिलाड़ी के लिए ‘दुश्मन’ भी बन गए. दरअसल, गिल ओपनर के तौर पर टीम से खेलते हैं. इसी स्पॉट पर शिखर धवन ने भी लंबे वक्त तक भारत का प्रतिनिधित्व किया. अब श्रीलंका और न्यूजीलैंड के खिलाफ धवन को टीम से बाहर कर दिया गया.

 

ऐसे में सेलेक्टर्स ने साफ संकेत दे दिए हैं कि आगामी वर्ल्ड कप के लिए धवन के नाम पर विचार बेहद मुश्किल है. वहीं, गिल के अलावा ईशान किशन ने भी हाल में दोहरा शतक जमाया था. किशन भी रोहित के जोड़ीदार के रूप में उतर सकते हैं. ऐसे में धवन की जगह पक्की नहीं है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 24 शतक

37 साल के धवन ने कई साल तक भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया. उन्होंने टेस्ट में 34 मैचों में 7 शतक और 5 अर्धशतकों की मदद से कुल 2315, वनडे में 167 मैचों में 17 शतक और 39 अर्धशतकों की बदौलत कुल 6793 और टी20 इंटरनेशनल फॉर्मेट में 11 अर्धशतकों के दम पर 68 मैचों में 1759 रन बनाए हैं.