टीम इंडिया ने रच दिया इतिहास, 317 रन से श्रीलंका को हराकर तोड़ा इस टीम का रिकॉर्ड

भारत ने श्रीलंका को तीसरे एकदिवसीय मैच में 317 रन से हराया। इसके साथ ही उसने वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड अपने नाम किया। इससे पहले यह रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाम था।

न्यूजीलैंड ने एक जुलाई 2008 को आयरलैंड के खिलाफ 290 रन से जीत हासिल की थी। तीसरा एकदिवसीय मैच जीतने के साथ ही भारत ने श्रीलंका के खिलाफ सीरीज क्लीन स्वीप की। भारतीय टीम शुरुआती दोनों वनडे जीतकर पहले ही सीरीज अपने नाम कर चुकी थी।

आखिरी एकदिवसीय तिरुअनंतपुरम (Thiruvananthapuram) के ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम (Greenfield International Stadium) में खेला गया। रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में पांच विकेट पर 390 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम 22 ओवर में सिर्फ 73 रन पर ऑलआउट हो गई। भारत की ओर से मोहम्मद सिराज ने 10 ओवर एक मेडन फेंकते हुए 32 रन देकर 4 विकेट लिए। कुलदीप यादव ने 16 और मोहम्मद शमी ने 20 रन देकर 2 विकेट लिए।

इससे पहले भारत की ओर से शुभमन गिल (Shubman Gill) और विराट कोहली (Virat Kohli) ने शतक लगाए। कोहली 13 चौके और 8 छक्के की मदद से 110 गेंद में 166 रन बनाकर नाबाद रहे। कोहली ने वनडे इंटरनेशनल में पहली बार एक पारी में 8 छक्के लगाए हैं। विराट कोहली प्लेयर ऑफ द मैच और प्लेयर ऑफ द सीरीज चुने गए।

इस मैच में दोनों टीमें 2-2 बदलाव के साथ उतरीं। भारत की प्लेइंग इलेवन (Playing 11) में वाशिंगटन सुंदर (Washington Sunder) और सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) को शामिल किया गया।

हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) और उमरान मलिक (Umran Malik) को रेस्ट दिया गया श्रीलंका की प्लेइंग इलेवन में धनंजय डिसिल्वा और दुनिथ वेल्लागे की जगह अशेन बंडारा और जैफ्री वैंडरसे को शामिल किया गया। भारतीय टीम शुरुआती दोनों वनडे आसानी से जीतकर पहले ही सीरीज अपने नाम कर चुकी थी। भारत की इस रिकॉर्ड जीत से टीम का मनोबल आसमान छू गया है।