मौसम विभाग की चेतावनी, 2 दिन घर से बाहर ना निकलना, माइनस चार रहेगा पारा, हीटर-गीजर हो जाएंगे फेलव

ठंड से जूझ रहे उत्तर भारत के लोगों को आने वाले दिनों में राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों में पारा गिरने की संभावना है. ये न्यूनतम -4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 2 डिग्री सेल्सियस रह सकता है. न्यूज एजेंसी ANI के हवाले से ये जानकारी सामने आई है.

हालांकि पिछले कुछ दिनों में उत्तर भारत में कोहरे की स्थिति में सुधार हुआ है. लेकिन पश्चिमी विक्षोभ की वजह से चल रही तेज हवाओं के कारण, मौसम विशेषज्ञ के अनुसार यह राहत ज्यादा देर तक नहीं रहेगी और कोहरा जल्द ही लौटेगा. मौसम विशेषज्ञ ने कहा कि 14 से 19 जनवरी के बीच बर्फीली, भीषण ठंड का अनुभव होगा और 16 से 18 जनवरी तक इसके चरम पर रहने की संभावना है.

मौसम विशेषज्ञ ने एक ट्वीट किया कि एक सप्ताह में उत्तरी मैदानी इलाकों में शीतलहर चलेगी. भारत में शीतलहर का आगामी दौर 14-19 जनवरी 2023 के दौरान वास्तव में चरम पर होगा. मैदानी इलाकों में -4°c से +2°c तक का तापमान रह सकता है. इस बीच, दिल्ली में आज (गुरुवार) हल्की बारिश या बूंदाबांदी की संभावना है. नई दिल्ली में क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र (RWFC) ने गुरुवार, 12 जनवरी को आसमान में बादल छाए रहने और बहुत हल्की बारिश या बूंदाबांदी की संभावना जताई है.

 

सफदरजंग में गुरुवार सुबह साढ़े आठ बजे तक न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री जबकि पालम में न्यूनतम तापमान 9.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी में कोहरे की स्थिति बनी हुई है.जम्मू और कश्मीर, जो बर्फ से ढका हुआ है, उसे भी ठंड से कोई राहत नहीं मिलेगी. पारा के न्यूनतम -6 डिग्री सेल्सियस तक गिरने की भविष्यवाणी की गई है. पंजाब, हरियाणा, नई दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और उत्तरी मध्य प्रदेश सप्ताह के दौरान भीषण शीतलहर की चपेट में रहेंगे. यहां न्यूनतम तापमान 0 से 4 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा.

राजस्थान में कैसा रहेगा मौसम?

मौसम विभाग के अनुसार, राजस्थान के उत्तर-पश्चिमी और उत्तरी भागों में 13 जनवरी को बादल छाए रहेंगे. हालांकि इस दौरान व्यापक स्तर पर बारिश या मावठ होने के लिए परिस्थितियां अनुकूल नहीं है.

विभाग के अनुसार, 14 जनवरी से राज्य के अधिकतर भागों में एक बार पुनः उत्तरी हवाओं के प्रभाव से न्यूनतम तापमान में 3-5 डिग्री सेल्सियस की बड़ी गिरावट होने से राज्य में शीतलहर का नया दौर बीकानेर संभाग से शुरू होगा, जबकि 15 जनवरी से शीतलहर की तीव्रता में बढ़ोतरी होने से बीकानेर, जयपुर, अजमेर व भरतपुर संभाग के अधिकतर भागों में शीतलहर से तीव्र शीतलहर दर्ज होने की प्रबल संभावना है.

बीते चौबीस घंटे में राज्य में न्यूनतम तापमान अलवर में 8.8 डिग्री सेल्सियस, बीकानेर में 9.1 डिग्री व संगरिया में 9.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. शेष जगहों में से ज्यादातर स्थानों पर यह 10 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया.