TATA Cancer Hospital: 400 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ टाटा कैंसर हॉस्पिटल, अब महंगा इलाज नहीं लेगा किसी की जान

रांची में टाटा कैंसर हॉस्पिटल (TATA Cancer Hospital) एंड रिसर्च सेंटर बनकर तैयार है। आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज इसका उद्घाटन करेंगे। राजधानी के कांके में यह अस्पताल तैयार हुआ है।

शिलान्यास के वक्त रतन टाटा ने कहा था कैंसर के कारण हर साल लाखों लोग मरते हैं। इसका इलाज इतना महंगा है कि लोग इस रोग से लड़ने की हिम्मत नहीं करते। अस्पताल (TATA Cancer Hospital) कई लोगों की जान बचाने में अहम भूमिका निभायेगा। हॉस्पिटल में ओपीडी के साथ फिलहाल 82 बेड की सुविधा होगी।

कैंसर से लड़ाई अब झारखंड में होगी आसान

इस अस्पताल (TATA Cancer Hospital) का शिलान्यास रतन टाटा और तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 10 नवंबर 2018 को किया था। इस अस्पताल में अक्टूबर 2022 से ही ओपीडी आरंभ हो गया था। यहां कैंसर के सभी टेस्ट और इलाज समेत रेडियोथेरेपी, कीमोथेरेपी समेत अन्य सुविधा है। इस अस्पताल के आने से झारखंड को कैंसर से लड़ने में और आसानी होगी।

यह भी पढ़ें: नई Maruti Eeco ने उड़ाया गर्दा, स्टाइलिश लुक वाली ये 7 Seater कार बनी लोगों की पहली पसंद

कैंसर के बेहतर इलाज के लिए जमशेदपुर या दूसरे राज्यों का रुख करने वाले रांची के लोग अब इस अस्पताल की वजह से बड़ी राहत महसूस करेंगे। कैंसर के मरीजों के लिए यह बड़ी राहत है। कैंसर के इलाज के लिए दिल्ली-मुंबई जैसे महानगरों का रुख करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कैंसर रोगी टीएमएच मुंबई का रुख करते थे। वर्तमान में झारखंड के कैंसर रोगियों का इलाज रिम्स में भी होता है।

कैंसर पर रिसर्च भी होगा

इस टाटा कैंसर हॉस्पिटल में ओपीडी का संचालन एक साल पहले से किया जा रहा है। 12 मई के बाद यहां इनडोर कैंसर पेशेंट का भी इलाज शुरू हो जाएगा। अस्पताल में फिलहाल 82 बेड हैं, जिनमें से 50 फीसदी यानि 41 बेड स्थानीय लोगों के लिए आरक्षित हैं।

अस्पताल में 14 ऑपरेशन थिएटर और 28 बेड का आइसीयू हैं। अस्पताल का निर्माण टाटा ट्रस्ट ने किया है। इस अस्पताल की खास बात ये है कि इसमें इलाज के साथ कैंसर पर रिसर्च भी होगा। अस्पताल को मुंबई के टाटा मेमोरियल सेंटर के समान विकसित किया जाना है।