Apple profit: हर घंटे 53 करोड़ रुपये मुनाफा कमाती है यह कंपनी, अंबानी-अडानी दूर-दूर तक नहीं

आईफोन (iPhone) बनाने वाली कंपनी एपल (Apple) दुनिया में सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी (Apple profit) है। कंपनी हर सेकेंड 1820 डॉलर यानी करीब 1.48 लाख रुपये का प्रॉफिट कमाती है।

अगर दिन के हिसाब से देखें तो कंपनी (Apple profit) रोजाना 15.7 करोड़ डॉलर यानी करीब 1282 करोड़ रुपये का प्रॉफिट कमाती है। हर सेकेंड 1,000 डॉलर से अधिक प्रॉफिट कमाने वाली कंपनियों में माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft), अल्फाबेट (गूगल की पेरेंट कंपनी) और वॉरेन बफे (Warren Buffett) की बर्कशायर हैथवे (Berkshire Hathaway) शामिल है। अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर फाइनेंशियल बिजनस Tipalti की एक नई रिसर्च में यह बात सामने आई है।

प्रॉफिट के मामले में माइक्रोसॉफ्ट दूसरे नंबर पर है। इसकी पर सेकेंड कमाई 1404 डॉलर यानी 1.14 लाख रुपये है। बर्कशायर हैथवे की हरेक सेकेंड की कमाई 1,348 डॉलर यानी 1.10 लाख रुपये है। एपल मार्केट कैप के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। इसका मार्केट कैप 2.403 ट्रिलियन डॉलर है। मार्केट कैप के मामले में माइक्रोसॉफ्ट तीसरे और अल्फाबेट चौथे नंबर पर है। माइक्रोसॉफ्ट का मार्केट कैप 1.845 ट्रिलियन डॉलर है जबकि अल्फाबेट का मार्केट कैप 1.277 ट्रिलियन डॉलर है।

अंबानी-अडानी

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Relinace Industries) 213.60 अरब डॉलर के मार्केट कैप के साथ दुनिया की टॉप कंपनियों में 40वें नंबर पर है। रिलायंस भारत की सबसे मूल्यवान कंपनी है। मार्केट कैप के हिसाब से दुनिया की टॉप 100 कंपनियों में भारत की तीन कंपनियां शामिल हैं। टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेज (TCS) इस लिस्ट में 72वें और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) 93वें नंबर पर है। भारत और एशिया के सबसे बड़े रईस गौतम अडानी (Gautam Adani) की एक भी कंपनी टॉप 100 में शामिल नहीं है।

अमेरिका में औसत सालाना सैलरी 74,738 डॉलर यानी 1433.33 डॉलर पर वीक है। यानी एपल की हर सेकेंड कमाई अमेरिका के वर्कर्स की हर हफ्ते की कमाई से 387 डॉलर यानी 27.01 फीसदी अधिक है। अल्फाबेट की हर सेकेंड कमाई 1277 डॉलर है। फेसबुक की पेरेंट कंपनी मेटा प्लेटफॉर्म्स की हर सेकेंड की कमाई 924 डॉलर है। दूसरी ओर उबर टेक्नोलॉजीज को पिछले साल 6.8 अरब डॉलर का नुकसान हुआ। यानी हर सेकेंड 215 डॉलर का नुकसान। दुनिया की सबसे बड़ी राइड हेलिंग ऐप होने के बावजूद यह कभी भी मुनाफे में नहीं रही।