भारत सरकार ने जारी किया Aadhaar Card का एक जरूरी नियम, बिल्कुल फ्री मिलेगी ये सेवा

UIDAI यानी आधार कार्ड (Aadhaar Card) का डेटा स्टोर रखने वाली भारत सरकार की संस्था ने बच्चों के आधार कार्ड के लिए एक नई दिशानिर्देष जारी किए हैं। यूआईडीएआई ने भारतीय बच्चों के आधार कार्ड यानी बाल आधार को अपडेट करने की गाइडलाइंस जारी की है।

बच्चों के आधार कार्ड के लिए जरूरी नियम

यह एक अति-आवश्यक नियम है, जिसके तहत बच्चे अभिभावकों को कहा गया है कि वो अपने बच्चों के आधार कार्ड (Aadhaar Card) 5 साल और 15 साल की उम्र में अपडेट कराएं। इसका मतलब है कि अगर आपके घर में कोई बच्चा है, तो उसका आधार कार्ड आपको 5 साल की उम्र और फिर 15 साल की उम्र में अपडेट कराना अनिवार्य होगा।

UIDAI ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए भी ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है और कहा है कि अभिभावक अपने बच्चों का आधार कार्ड 5 और 15 वर्ष की उम्र में जरूर अपडेट कराएं। अभिभावक अपने नजदीकी आधार सेंटर में जाकर बिल्कुल मुफ्त में अपने बच्चों के आधार कार्ड को अपडेट करा सकते हैं।

5 साल तक के बच्चों के लिए नीला आधार कार्ड

UIDAI के अनुसार बच्चों के फिंगरप्रिंट समेत शरीर के तमाम अंगों में उम्र से साथ बदलाव होते हैं, जिसे अपडेट कराना अनिवार्य होता है। बाल आधार और साधारण आधार में अंतर स्पष्ट करने के लिए सरकार ने इसे 0-5 साल तक के बच्चों के लिए ब्लू यानी नीले रंग का बाल आधार जारी करना शुरू किया है। यह नीले रंग का आधार कार्ड 5 साल की उम्र के बाद मान्य नहीं होगा।

अगर आपके बच्चों की उम्र 5 साल हो गई है तो आप तुरंत अपने नजदीकी आधार कार्ड सेंटर पर जाएं और अपने बच्चों के आधार कार्ड को अपडेट कराएं। यह फ्री सेवा है। उसके बाद आपके बच्चों को मिला नीले रंग का बाल आधार कार्ड बदलकर सफेद रंग वाला दिया जाएगा, जो कि आमतौर पर लोगों के पास होता है।