अब पानी के अंदर भी चलेगी अंडर वाटर ट्रेन, सुरंग बनकर तैयार, इस महीने से पानी का सीना चीरकर चलेगी

भारत आए दिन हर क्षेत्र में लगातार तरक्की कर रहा है. देश में कई तरह की नई-नई परियोजनाओं पर कार्य किया जा रहा हैं. इसी क्रम में कोलकाता शहर में मेट्रों के विकास पर तेजी के साथ काम हो रहा है.

आपको बता दें कि कोलकाता में मेट्रो ट्रेन को बहुत जल्द पानी के अंदर से भी चलाया जाएगा. ताकि लोगों को यात्रा के समय अद्भुत अनुभव प्राप्त हो सके. तो आइए इस खबर के बारे में विस्तार से जानते हैं.

पानी के अंदर सुरंग का काम हुआ पूरा
बताया जा रहा है कि कोलकाता में पानी के अंदर मेट्रो ट्रेन को दौड़ाने के लिए सुरंग का काम लगभग पूरा हो चुका है, जिसमें सरकार ने करीब 120 करोड़ रुपए तक खर्च किए हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह देश की पहली ऐसी सुरंग होगी जो पानी के अंदर से बनाई गई है. यह सुरंग 520 मीटर लंबी है, जिसे ट्रेन लगभग 45 सेकंड में पूरा पार कर जाएगी.

जानें किस आधार पर बनाई यह सुरंग
भारत की यह पानी की सुरंग ‘यूरोस्टार’ के लंदन-पेरिस कॉरिडोर की तर्ज पर तैयार की गई है. इस सुरंग में दिलचस्प की बात यह है कि इसे भूमि से 33 मीटर और नदी की तलहटी से 13 मीटर नीचे तैयार किया है, जोकि पश्चिम में पूर्वी हावड़ा मैदान को आईटी केंद्र साल्ट लेक सेक्टर पांच को जोड़ने का काम करती है.

कब चालू होगी सुरंग
अगर आप भी इस सुरंग में ट्रेन के शुरू होने का इंतजार कर रहें है, तो इसके लिए अभी कुछ दिन और आपको इंतजार करना होगा. क्योंकि बताया जा रहा है कि एस्प्लेनेड और सियालदह के बीच के 2.5 किलोमीटर के निर्माण कार्य को सही से पूरा होने के बाद और फिर सुरक्षा की जांच पड़ताल करने के बाद इसे शुरू कर दिया जाएगा.

यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि साल 2023 के आखिरी महीने तक इस कॉरिडोर में मेट्रो चलना शुरू हो सकती है.

इस सुरंग के फायदे
वैसे-तो इस सुरंग के कई तरह के फायदे हैं, लेकिन सबसे अच्छा फायदा लोगों को यह होगा कि जहां ‘हावड़ा और सियालदह के बीच के रूट को तय करने में व्यक्ति को 1.5 घंटे तक का समय लगता है, वहीं इसकी मदद से वह इस सफर को 40 मिनट में तय कर लेगा.