ये है दुनिया का सबसे छोटा देश, 4 कुत्तों को मिलाकर इस देश में रहते हैं सिर्फ 34 लोग

अमेरिका के नेवादा राज्य में एक छोटा सा देश है, जिसे लोग ‘रिपब्लिक ऑफ मोलोसिया’ (Republic of Molossia) के नाम से जानते हैं. नेवादा एक विशाल राज्य है जो अपने समृद्ध खनन इतिहास और जंगली पश्चिम पदचिह्न के लिए जाना जाता है. हालांकि, क्या आप जानते हैं कि राज्य की सीमाओं के भीतर एक संप्रभु देश है?

आपने बिल्कु सही सुना. इसे मोलोसिया गणराज्य (जिसे मोलोसिया भी कहा जाता है) के रूप में जाना जाता है और इसमें वह सब कुछ है जिसकी आप एक राष्ट्र से अपेक्षा करते हैं. आइए इस आकर्षक देश पर करीब से नज़र डालें जो नेवादा को अपना घर भी कहता है.

अमेरिका के नेवादा में यह देश है मौजूद

रिपब्लिक ऑफ मोलोसिया कार्सन सिटी के पश्चिम में लगभग तीस मिनट की ड्राइव पर स्थित है. मोलोसिया गणराज्य एक माइक्रोनेशन है. यह एक छोटा सा देश है- बहुत छोटा. मोलोसिया दो एकड़ से भी कम भूमि को कवर करता है. यह नेवादा के डेटन स्थित कार्सन नदी के किनारे बसा हुआ है. देश को मूल रूप से ग्रैंड रिपब्लिक ऑफ वल्डस्टीन कहा जाता था, जब इसकी स्थापना 1977 में हुई थी. इसका नाम 1998 में लगभग 20 साल बाद किंगडम ऑफ मोलोसिया में बदल दिया गया था.

यहां के शासक का नाम है केविन बॉग

आप यह जरूर जानना चाहते होंगे कि मोलोसिया पर कौन शासन करता है? वह हैं केविन बॉग (Kevin Baugh), जिन्होंने किशोर होने पर एक दोस्त के साथ राष्ट्र की स्थापना की थी. निडर नेता को विभिन्न आयोजनों में राष्ट्र का प्रतिनिधित्व करते देखा जा सकता है और उनके लोगों द्वारा बहुत प्यार किया जाता है. मोलोसिया गणराज्य में फ्रेंडशिप गेटवे, बैंक ऑफ किकैसिया और मोलोसियन सरकारी ऑफिस मौजूद है. विजिटर्स मोलोसिया का दौरा कर सकते हैं. हालांकि कोई भी अचानक नहीं पहुंच सकता, विजिटिंग के लिए तारीखों को देश की वेबसाइट देखना होगा.

यहां की यात्रा के लिए यात्रियों को मोलोसिया की मुद्रा वैलोरा (Valora) के लिए तैयार रहना चाहिए. यहां की राष्ट्रीय भाषा अंग्रेजी है, हालांकि एस्पेरांतो और स्पेनिश (Esperanto and Spanish) में भी बातचीत होती है.

इस देश में रहते हैं सिर्फ 30 लोग

ऐसे स्वघोषित देशों को माइक्रोनेशन कहा जाता है. ऐसे देशों को न तो संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की मान्यता है और न ही किसी अन्य देशों की. इनके पास अपना बॉर्डर, कानून, बैंकिंग सिस्टम, सैनिक हैं. हालांकि, पड़ोसी देश भी इन्हें देश के तौर पर अहमियत नहीं देता. यहां कुल 30 लोग रहते हैं, जबकि 4 कुत्ते भी हैं यानी कुल जीव की आबादी 34 है.