Winter में शुगर, पथरी, जोड़ों के दर्द के मरीज़ इस सब्ज़ी से रहें दूर

सर्दी(Winter) के मौसम में लोग पालक को अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाते हैं. उच्च पोषक तत्व होने के कारण पालक जैसे हरे पत्तेदार साग को स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. पालक खाने से न केवल आंखों के स्वास्थ्य में सुधार होता है बल्कि ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है. इसके अलावा पालक ऑक्डिेटिव स्ट्रेस को कम करके हड्डियों को मजबूत बनाने में भी मदद करता है. हालांकि इसका मतलब ये नहीं कि आप पालक को जब चाहें और जितना चाहें खा सकते हैं.

टीओआई की खबर के अनुसार अधिक मात्रा में पालक खाना सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है. वैसे आप पालक की स्मूदी बनाकर इसे पी सकते हैं. आप पालक की सब्जी बना सकते हैं. इसे ऑमलेट में डाल सकते हैं या फिर दाल या अन्य किसी सब्जी के साथ भी मिलाकर भी खा सकते हैं. लेकिन आपको बता दें कि अधिक मात्रा में इसका सेवन आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है. ऐसे में आइए जानते हैं कि अगर हम ज्यादा मात्रा में पालक खाते हैं, तो क्या हो सकता है और किन लोगों को इसके सेवन से बचना चाहिए.

​हो सकती है पोषक तत्वों की कमी

पालक में पोषक तत्व अच्छी मात्रा में मौजूद होते हैं, लेकिन इसमें मौजूद ऑक्सालिक एसिड पौधों में प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला तत्व है. जब शरीर में इस तत्व की मात्रा सामान्य से ज्यादा हो जाती है तो यह बॉडी में मौजूद अन्य मिनरल्स को अवशोषित करने की क्षमता को प्रभावित करता है. ऑक्सालिक एसिड जिंक, मैग्नीशियम और कैल्शियम के साथ बंध जाता है, जिससे शरीर में मिनरल की कमी हो सकती है और तबीयत खराब हो सकती है.

शरीर में होती है थकावट

एक दिन में अधिक मात्रा में पालक का सेवन करने से शरीर में थकावट होने लगती है. ज्यादा पालक खाने से व्यक्ति अपनी एनर्जी खोने लगता है और दिनभर सुस्ती छाई रहती है.

​पेट की समस्या

पालक(Winter) में फाइबर बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है. हाई फाइबर होने के कारण पालक गैस, सूजन और ऐंठन जैसी पेट की समस्याओं का कारण बन सकता है. साथ ही यह पाचन पर भी असर करता है.

​एलर्जी होने की संभावना

पालक जैसे हरी पत्तेदार सब्जी में हिस्टामाइन होता है. हिस्टामाइन शरीर के कुछ सेल्स में पाया जाने वाला एक कैमिकल है, जो कुछ मामलों में एलर्जी का कारण बन सकता है और शरीर को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है.

​किन लोगों के लिए पालक का सेवन हो सकता है खतरनाक

किडनी में स्टोन की समस्या होने पर न खाएं पालक
जिन लोगों को किडनी में स्टोन है, उन्हें पालक न खाने की सलाह दी जाती है. दरअसल, ज्यादा पालक खाने से शरीर में अधिक ऑक्सालिक एसिड बनता है. ऐसे में शरीर को इसे सिस्टम से बाहर निकालना मुश्किल हो जाता है. इससे किडनी में कैल्शियम ऑक्सालेट स्टोन जमा होने लगता है, जो किडनी में स्टोन की समस्या को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार है.

​जोड़ों में दर्द की समस्या से परेशान लोग न खाएं पालक

ऑक्सालिक एसिड के साथ साथ पालक में प्यूरिन भी होता है, जो एक तरह का तत्व है. ये दोनों तत्व मिलकर गाउट को ट्रिगर कर सकते हैं. जो लोग पहले से ही जोड़ों के दर्द और सूजन से परेशान हैं, उनके लिए अधिक पालक का सेवन शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है.

डायबिटीज के रोगी न खाएं पालक

पालक में भरपूर मात्रा में कई तरह के विटामिन्स मौजून होते हैं जो खून को पतला करने वाली दवा के साथ रिएक्ट करते हैं. इसलिए अगर आप खून पतला करने की दवा ले रहे हैं, डायबिटीज रोगी हैं या किडनी में स्टोन होने का खतरा है, तो आपको पालक खाने से बचना चाहिए.