ये पत्ता चबाया तो आउट ऑफ कंट्रोल नहीं होगी Diabetes, क्या है डायबिटीज का आसान उपाय?

डायबिटीज (Diabetes) एक ऐसी समस्या है जिसे कभी जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता है. इसमें बल्ड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कंट्रोल करना ही एकमात्र उपाय है. बिगड़े लाइफस्टाइल और खान-पान की वजह से बड़ी संख्या में लोग डायबिटीज(Diabetes) समेत अन्य गंभीर बीमारियों के शिकार हो जाते हैं.

अगर किसी को डायबिटीज(Diabetes) की समस्या हो जाए तो उसे ज्यादा देर तक भूखा नहीं रहना चाहिए. इसके अलावा बिना स्टार्च वाला फूड अपनी डाइट में शामिल करना होता है. कुछ भी मीठा खाने से परहेज करना पड़ता है और अगर मीठा कभी खाया भी तो उसे सीमित मात्रा में लेना होता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आप अपना ब्लड शुगर लेवल सुबह खाली पेट अंजीर के पत्ते चबाकर भी कम कर सकते हैं. डायबिटीज में ये आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा.

क्या हैं डायबिटीज(Diabetes) के लक्षण?

बता दें कि डायबिटीज टाइप-1 के लक्षण तेजी से दिखते हैं तो वहीं टाइप-2 डायबिटीज के लक्षण काफी कम नजर आते हैं. आइए जानते हैं कि डायबिटीज टाइप-1 और डायबिटीज टाइप-2 के शुरुआती लक्षण क्या हैं. अगर आपको डायबिटीज की समस्या है तो आपको आंखों में धुंधलापन, चिड़चिड़ापन, स्किन इंफेक्शन, घाव का देरी से भरने, बार-बार टॉयलेट आने, बहुत प्यास लगने, वजन बढ़ने या कम होने, बहुत भूख लगने और थकान की दिक्कत हो सकती है.

डायबिटीज के उपाय-:

अंजीर के पत्ते

अगर आपको डायबिटीज की समस्या है तो अंजीर के पत्ते आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकते हैं. आप सुबह खाली पेट अंजीर के पत्ते चबा सकते हैं. इसके अलावा अगर आप अंजीर के पत्ते चबाना नहीं चाहते तो आप इन्हें पानी में उबालकर पी सकते हैं. अंजीर के पत्तों में मधुमेह विरोधी गुण पाए जाते हैं. इससे बॉडी का ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है.

जामुन की गुठली

डायबिटीज की बीमारी में जामुन के बीज भी लाभकारी हैं. सबसे पहले जामुन की गठलियों को सुखाकर पीस लें और फिर इसका चूरन बना लें. जामुन की गुठली के चूरन को रोजाना सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ खाएं. इससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल हो जाएगी.