होम जरा हटके वैज्ञानिकों के भी चकरा गए सिर, केरल में 9 महीने से हरी...

वैज्ञानिकों के भी चकरा गए सिर, केरल में 9 महीने से हरी जर्दी वाला अंडा दे रही मुर्गियां

0
741
Green Egg Yolk
कई दिनों की जांच पड़ताल के बाद आखिरकार वैज्ञानिकों ने सुलझा ही लिया हरी जर्दी वाले अंडे का रहस्य (Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. अंडा खाने वाले सभी लोगों को पता जानते हैं कि जर्दी का रंग पीला होता है. लेकिन, भारत के केरल राज्य में पिछले कुछ दिनों से पोल्ट्री किसान के घर पर मुर्गियां हरी जदी वाला अंडा दे रही हैं. यह परिवार हरी जर्दी वाला अंडा कई महीनों से खा रहा है. अब फेसबुक समेत तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर इसकी तस्वीर वायरल रही है.

दरअसल, केरल के मल्लपुराम में एके शिहाबुद्दीन अपना पोल्ट्री फॉर्म चलाते हैं. शिहाबुद्दीन के मुताबिक, पिछले 9 महीने से हमारी मुर्गियां हरी जर्दी वाला अंडा दे रही हैं. पूरा परिवार यही अंडा खा रहा है, लेकिन अभी तक किसी को कोई दिक्कत नहीं हुई.

सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीरें

शिहाबुद्दीन के मुताबिक, हफ्तों पहले उन्होंने हरे अंडे की जर्दी वाले अंडे का वीडियो और फोटोज को सोशल मीडिया पर पोस्ट किए. बस देखते ही देखते ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. भारत ही नहीं बल्कि विदेशी मीडिया में भी हरी जर्दी वाला अंडा छाया हुआ है.

वैज्ञानिक भी रह गए हैरान

शुरुआत में वैज्ञानिक भी हरी जर्दी वाला अंडा देख कन्फ्यूज हो गए. हालांकि, अब उन्हें यह पता चल चुका है कि ऐसा क्यों हो रहा है? केरल के एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी के एक्सपर्ट्स कहते हैं कि मुर्गी के खानपान की वजह से ऐसा हो रहा है. अगर उसके खाने-पीने की चीजों में हरे रंग के चीजें ज्यादा हैं तो ऐसा संभव है.

ये भी पढें: हर दिन 45 हजार मजदूरों को खाना खिला रहे सोनू, बोले-इनके चेहरे की खुशी देख सारे दुख भूल जाता हूं

यूनिवर्सिटी के पोल्ट्री साइंस विभाग में एसिसटेंट प्रोफेसर डॉ. एस. शंकरलिंगम ने बताया कि हमने शिहाबुद्दीन से वो खाना मांगा जो मुर्गियों को दिया जाता है. इसके बाद यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों को खाने की जांच की और अंतत नतीजे पर पहुंचे.

इस तरह नतीजे पर पहुंचे वैज्ञानिक

डॉ. शंकरलिंगम के मुताबिक, हमने कुछ दिन तक शिहाबुद्दीन से कहा कि वह यही खाना मुर्गियों को दें. शुरुआत में उसे खाने के बाद मुर्गियों ने जो अंडे दिए वो हरे रंग की जर्दी वाले थे. लेकिन दो हफ्ते बाद जब खाने में बदलाव किया गया तो जर्दी का रंग पीला होने लगा.

डॉ. एस. शंकरलिंगम ने बताया कि मुर्गियों को केरल में आमतौर पर कुरुनथोट्टी नाम का मेडिशिनल पौधा खाने में दिया जाता है. इसकी वजह से अंडे की जर्दी का रंग बदल गया है.