वैज्ञानिकों ने खोजी नई तकनीक, अब प्लास्टिक कचरा सालों में नहीं कुछ घंटों में होगा नष्ट

आमतौर पर प्लास्टिक को प्राकृतिक रूप से नष्ट होने में सैकड़ों साल लगते हैं, लेकिन जर्मनी के वैज्ञानिकों ने अब एक अत्यधिक प्रभावशाली एंजाइम की खोज की है, जो रिकॉर्ड समय में प्लास्टिक के कंपोनेंट्स (Components) को तोड़ देता है. दुनिया भर में प्लास्टिक प्रदूषण (Plastic Pollution) की गंभीर स्थिति को देखते हुए इस खोज को गेमचेंजर के रूप में देखा जा रहा है.

कब्रिस्तान में मिला एंजाइम
एंजाइम, जिसे पॉलिएस्टर हाइड्रोलेस (PHL7) कहा जाता है, को हाल ही में जर्मनी के एक कब्रिस्तान (Germany Cemetery) में खाद को अवशोषित करते हुए पाया गया था. जर्मन वैज्ञानिकों ने पाया कि नया पाया गया PHL7 LLC की तुलना में कम से कम दो गुना तेज है. इसको लेकर अब रिजल्ट वैज्ञानिक पत्रिका ‘केमसुसकेम’ में प्रकाशित किए गए हैं.

16 घंटे में देता है रिजल्ट
जर्मनी के लीपजिग यूनिवर्सिटी (Leipzig University) के माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Microbiologist) वोल्फगैंग जिमर्मन ने कहा कि यह एंजाइम 16 घंटे से भी कम समय में पॉलीइथाइलीन टेरेफ्थेलेट (Polyethylene Terephthalate) को 90 फीसदी तक विघटित करने में सक्षम है. यह वैकल्पिक ऊर्जा-बचत प्लास्टिक रीसाइक्लिंग (Plastic Recycling) प्रक्रियाओं को स्थापित करने में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है.

बिना मदद के करता है काम
इसके अलावा, वैज्ञानिकों ने पाया कि PHL7 को प्लास्टिक को विघटित करने के लिए किसी पूर्व-उपचार की भी आवश्यकता नहीं है. यह प्लास्टिक को बिना पीसे या पिघलाए खा सकता है. इस प्रकार, PHL7 जैसे शक्तिशाली एंजाइमों से कम कार्बन (Carbon) और पेट्रोकेमिकल्स (Petrochemicals) के उपयोग के बिना, एक महत्वपूर्ण पीईटी प्लास्टिक (PET Plastic) की एक स्थायी रीसाइक्लिंग प्रक्रिया अपनाई जा सकती है.

प्लास्टिक संकट होगा दूर
ऐसे में वैज्ञानिकों का मानना है कि इस एंजाइम की मदद से प्लास्टिक संकट को जल्द ही दूर किया जा सकेगा. अब तक प्लास्टिक को समाप्त करने के लिए रिसाइकिलिंग ही एक तरीका हुआ करता था. हालांकि, इससे महज प्लास्टिक कचरे का 10 फीसदी हिस्सा ही रिसाइकिल हो पाता था.