Home Tags Posts tagged with "Rahul Gandhi"
Tag:

Rahul Gandhi

प्रवीन तोगड़िया का बड़ा बयान, यूपी में बने किसी की भी सरकार, जीत सिर्फ हिंदुत्व की होगी

नई दिल्ली: अर्न्तराष्ट्रीय हिंदू परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रवीन भाई तोगड़िया ने 2022 के चुनाव में कौन जीतेगा के सवाल पर कहा आज राजनीति का भगवाकरण, हिंदूकरण हो गया है।

तोगड़िया ने कहा, पहले राजनीतिक दलों में धर्मनिरपेक्ष बनने की प्रतिस्पर्धा थी। लेकिन आज हिंदू बनने की स्पर्धा है। राहुल गांधी कहते हैं कि मैं हिंदू हूं, अखिलेश यादव कहते हैं कि काशी के विकास में मेरा सहयोग है। ममता बनर्जी चंडी पाठ कर रहीं है। योगी अयोध्या जा रहे हैं। इसलिए 2022 में जो भी जीतेगा वह हिंदूवादी ही होगा।

हिंदू हित के लिए काम कर रहे संगठन

डॉ. तोगड़िया आगरा जाने के दौरान बछगांव स्थित बजरंग दल के जिलाध्यक्ष शुभम प्रताप सिंह के कृष्णा टाउन स्थित आवास पर प्रवास के दौरान पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा हिंदू हित के लिए यह संगठन काम कर रहा है, हिंदूओं को संगठित होकर अपने विकास पर ध्यान देना चाहिए। हिंदुओं की मदद के लिए देशभर में हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। आगरा, मथुरा, दिल्ली, अहमदाबाद सहित अन्य क्षेत्रों में यदि कोई हिंदू परेशान है तो हिंदू हेल्पलाइन नंबर 02066803300 मिलाने पर वहां का हिंदू मदद को पहुंचेगा। एक वर्ष में एक लाख से अधिक हिंदुओं की मदद करते हैं।

हेल्पलाइन पर जोड़ रहे

हिंदू के पास यदि पैसा नहीं हैं तो दस हजार चिकित्सकों को जोड़कर इंडिया हेल्पलाइन तैयार की है। गरीब हिंदुओं का उपचार करेंगे। कोई गरीब हिंदू भूखा नहीं रहेगा इसलिए लाखों घरों में थैली बांटी हैं। हर घर से एक मुट्ठी अनाज एकत्रित करके दस किलोग्राम गरीब परिवार को देते हैं। हिंदू बेटा-बेटियों को रोजगार दिलाने की पहल की है।

उन्होंने कहा कि हमारा संगठन हिंदू हित में इसी तरह से काम करता रहेगा। इस दौरान राष्ट्रीय संगठन मंत्री ईश्वरी प्रसाद, क्षेत्रीय महामंत्री हरेंद्र कुमार, प्रांत महामंत्री अज्जू चौहान, मुनिराज सिंह, गणेश गुप्ता, शैंकी जादौन, अवधेश प्रताप सिंह उर्फ सप्पू प्रधान,मनोज जादौन आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

0 comment 35 views
0 FacebookTwitterWhatsappEmail

नई दिल्ली: राजस्थान (Rajasthan) की राजधानी जयपुर (Jaipur) में हुई कांग्रेस की रैली में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के भारत को हिंदुओं का देश बताने और हिंदू बनाम हिंदुत्व की नई परिभाषा पर विवाद हो गया है। वहीं, BJP के बाद एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने राहुल गांधी और कांग्रेस पर सवाल उठाए हैं।

ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा कि हिंदुओं को सत्ता में लाना 2021 का सेक्युलर एजेंडा है। भारत केवल हिंदुओं का नहीं बल्कि सभी भारतीयों का है। साथ ही भारत सभी धर्मों के लोगों का है और उनका भी जिनका कोई विश्वास नहीं है। वहीं, रविवार देर रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सफाई देने के अंदाज में ट्वीट किया।

दरअसल, ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बयान के बाद ट्वीट करते हुए लिखा कि राहुल और कांग्रेस हिंदुत्व के लिए ग्राउंड तैयार कर रहे हैं। हालांकि अब वे बहुसंख्यक वाद की फसल काटना चाहते हैं। वहीं, 2021 में हिंदुओं को सत्ता में लाने का सेक्युलर एजेंडा है, वाह भारत सब भारतीयों का है, अकेले हिंदुओं का नहीं है। भारत सभी मत-मतांतरों को मानने वालों और नहीं मानने वालों का भी देश है। बता दें कि राहुल गांधी के इस बयान के बाद एक बार फिर से हिंदुत्व पर बहस तेज हो गई है। हालांकि कई संगठन इस बयान को लेकर उनकी आलोचना भी कर रहे हैं।

हिंदू नहीं करते हैं किसी से नफरत- सीएम गहलोत

बता दें कि सीएम अशोक गहलोत ने हिंदू वाले बयान पर सफाई देते हुए कहा कि – सत्य, अहिंसा, प्यार, भाईचारा और सहिष्णुता को मानने वाला व्यक्ति हिंदू है। यदि हिंदू किसी से नफरत नहीं करते और सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। वहीं, हिन्दुत्ववादी हिंसा, असहिष्णुता और घृणा फैलाने में भरोसा रखते हैं। ऐसे में हिंदू और हिन्दुत्ववादी में वही अंतर है, जो गांधीजी और गोडसे में था।

इसके साथ ही गहलोत ने लिखा है कि सही मायने में हिंदू सत्य,अहिंसा और सद्भाव में विश्वास रखता है। वहीं, कट्टरता और चरमवाद किसी भी धर्म में स्वीकार्य नहीं है। ऐसे में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की सोच है कि हिन्दू धर्म के मूल स्वरूप को बिगाड़कर हिन्दुत्ववाद के नाम पर BJP-RSS द्वारा की जा रही नफरत और हिंसा की राजनीति का देशहित में अंत होना चाहिए।

कई प्रदेशों में मु​स्लिम कांग्रेस का हैं परंपरागत वोट

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पहली बार कहा कि यह देश हिंदुओं का देश है। वहीं, हिंदुत्ववादियों का नहीं। इस दौरान ओवैसी ने इसी को मुद्दा बनाते हुए मुस्लिम-अल्पसंख्यक मतदाताओं को टारगेट किया है। हालांकि अभी भी कई प्रदेशों में मु​स्लिम कांग्रेस का परंपरागत वोट हैं। ऐसे में ओवैसी ने इसी वोट को ध्यान में रखते हुए राहुल गांधी के बयान पर निशाना साधा और हिंदुओं का देश बताने पर सवाल उठाए है। वहीं, कांग्रेस के नेता भी मुस्लिम समुदाय में राहुल के बयान के बाद आए टिप्पणी पर जांच रहे हैं।

0 comment 37 views
0 FacebookTwitterWhatsappEmail
Rahul Gandhi in Kisan Mahapanchayat

नई दिल्ली। Kisan Mahapanchayat Rajasthan: देश की राजधानी दिल्ली में किसानों का आंदोलन 78 दिनों से जारी है। किसानों के इस आंदोलन को विपक्ष लगातार सरकार को घेर रहा है। इसी कड़ी में शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिन के दौरे पर राजस्थान पहुंचे हैं। यहां हनुमानगढ़ के पीलीबंगा में किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) को राहुल ने संबोधित किया। राहुल ने इस दौरान पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा।

किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस की हमेशा कोशिश रही है कि खेती किसी एक हाथ में न जाए। लेकिन, नए कानून में इसका उलट किया जा रहा है। शाम को श्रीगंगानगर के पदमपुर में एक अन्य रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा कि देश के किसानों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो नरेंद्र मोदी कौन हैं।

आपका भविष्य और जमीन छीन रही सरकार

इससे पहले पीलीबंगा किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) में राहुल ने कहा कि मोदी जी कहते हैं कि हम किसानों के साथ बात करना चाहते हैं। आप क्या बात करना चाहते हैं? (कृषि) कानूनों को खत्म करें, किसान आपके साथ बात करेंगे। आप उनकी जमीन और भविष्य को छीन रहे हैं। ऐसे में आप उनसे बात करना चाहते हैं। पहले कानून वापस लें, फिर बात करें।

किसान महापंचायत में (Kisan Mahapanchayat) किसानों से बात करते हुए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आपके लिए जो ये तीन कानून आए हैं, इनका लक्ष्य क्या है। मोदीजी इन्हें क्यों ला रहे हैं, इसे मैं आपको समझाऊंगा। कृषि दुनिया का सबसे बड़ा व्यापार है, क्योंकि इससे करोड़ों लोगों को भोजन मिलता है। भारत की 40 प्रतिशत जनता इस व्यापार को चलाती है। कांग्रेस की कोशिश रही है कि कृषि किसी एक के हाथ में न जाए। आजादी के बाद यही हमारा लक्ष्य रहा है कि इसमें 40 प्रतिशत लोगों की भागीदारी रहे।

राहुल ने कहा कि मैं यहां आपको आश्वासन देने आया हूं कि इन कानूनों को बढ़ने नहीं देंगे। हम इन्हें रद्द करवाकर ही मानेंगे। तीन कानून क्या हैं? ये लोग कृषि के बिजनेस को किसान, खेतिहर से छीनना चाहते हैं। सरकार का लक्ष्य है कि 40 प्रतिशत लोगों का व्यापार 2-3 लोगों के हाथ में चला जाए। वे अपने उद्योगपति दोस्तों के लिए रास्ता बना रहे हैं।

दो हाथों में चला जाएगा 40 लाख करोड़ का कारोबार

शाम में श्रीगंगानगर के पदमपुर में किसान रैली (Kisan Rally) को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जिस दिन नए कृषि कानून लागू होंगे, उस दिन से देश के 40 फीसदी लोगों का 40 लाख करोड़ रुपये का कारोबार सिर्फ दो लोगों के हाथों में चला जाएगा। इन कानूनों के खिलाफ आंदोलन सिर्फ किसानों का नहीं है। किसानों ने अंधकार में रोशनी दिखाई है।

ये भी पढ़ें: Fakkad Baba: 60 साल से गुफा में रह रहे संत ने राम मंदिर के लिए दान किए 1 करोड़ रुपए, सभी हैरान

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने किसान आंदोलन को पूरे देश का आंदोलन बताते हुए कहा कि इसका दायरा अभी और बढ़ेगा। केंद्र सरकार द्वारा किसानों की कानून वापस लेने की मांग नहीं मानने की ओर इशारा करते हुए गांधी ने कहा कि यह शर्म की बात है। यह आंदोलन फैलेगा। यह आंदोलन किसानों से शहरों में फैलेगा। इसलिए मैं नरेंद्र मोदी से कह रहा हूं कि उन्हें किसानों की बात सुन लेनी चाहिए। अंत में करना ही पड़ेगा। हिंदुस्तान के किसान, मजदूरों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो नरेंद्र मोदी कौन हैं। कानून तो वापस लेने ही पड़ेंगे। इसलिए कह रहा हूं कि आज ले लो ताकि देश आगे बढ़े … लेकिन जिद कर रहे हैं।

बता दें कि इस पहले राहुल गांधी ने आज सुबह एक प्रेस कांफ्रेंस कर मोदी सरकार को चीन के मुद्दे पर भी घेरा था। उन्होंने मोदी सरकार पर भारत की जमीन चीन को देने का आरोप लगाया है।

0 comment 46 views
0 FacebookTwitterWhatsappEmail
Farmers Protest: राहुल-शिवसेना का मोदी सरकार पर निशाना, कहा-विरोध करने वाले सभी देशद्रोही

नई दिल्ली. कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) लगातार 20वें दिन भी जारी है. इस बीच, कांग्रेस और शिवसेना ने मोदी सरकार पर एक बार फिर से निशाना साधा है. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर आज सुबह मोदी सरकार पर निशाना साधा है.

इसके कुछ ही देर बाद शिवसेना भी राहुल के सुर में सुर मिलाती नजर आई.

क्या बोले राहुल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि केंद्र की भाजपा सरकार की नजर में आंदोलनकारी (Farmers Protest) किसान ‘खालिस्तानी’ और पूंजीपति उसके ‘सबसे अच्छे दोस्त’ हैं.

राहुल गांधी ने कहा , ‘मोदी सरकार के लिए: विरोध करने वाले स्टूडेंट्स राष्ट्र-विरोधी हो जाते हैं. देश के जिम्मेदार और चिंतित नागरिक अबर्न नक्स ल हो जाते हैं. प्रवासी मजदूरों को कोरोना कैरियर कहा जाता है. विरोध प्रदर्शन (Farmers Protest) करने वाले किसान खालिस्तानी हैं… और क्रोनी कैपिटलिस्ट उनके सबसे अच्छे दोस्त हैं.’

शिवसेना ने किया समर्थन

राहुल गांधी के सुर में सुर मिलाते हुए शिवसेना ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा. शिवसेना ने कहा कि जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है तो उसे देश द्रो ही बताया जाता है.

ये भी पढ़ें:  एम्स के 5000 से ज्यादा नर्सिंग कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, बढ़ी मरीजों की परेशानी

शिवसेना सांसद संजय राउत ने मंगलवार को कहा, ‘राहुल गांधी जी ने जो बात कही है वो देश की भावना है. जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाएगा उसे आप देशद्रोही (Farmers Protest) बोलेंगे. किसानों को आप दे श द्रो ही, पाकिस्तान और चीन के साथ साठगांठ है बोलेंगे. कल हम कुछ बोलेंगे तो हमें भी देश द्रो ही बोलेंगे.’

पिछले 20 दिनों से जारी है किसानों का प्रदर्शन

गौरतलब है कि केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के आसपास किसान संगठन पिछले करीब तीन हफ्तों से प्रदर्शन (Farmers Protest) कर रहे हैं. वह इन कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. सरकार के साथ किसान संगठनों की कई दौर की बातचीत बेनतीजा रही है.

0 comment 24 views
0 FacebookTwitterWhatsappEmail

About Us

At Newz Bulletin, we believe to deliver True and Fact full News. Our team is always against Fake and Paid News. Newz Bulletin promise its reader that we will deliver Inspiration stories based on Facts and Research.

Ⓒ 2022 Copyright and all Right reserved for Newzbulletin.in