7 साल बैन के बाद क्रिकेट में वापसी करेंगे तेज गेंदबाज श्रीसंत, केरल की रणजी टीम में मिला मौका

नई दिल्ली. पिछले 7 सालों से बैन के कारण तेज गेंदबाज श्रीसंत क्रिकेट से दूर हैं. लेकिन, जल्द ही वह एक बार फिर मैदान में वापसी करेंगे. एस. श्रीसंत को अगले रणजी सीजन में केरल की तरफ से मौका दिया जा सकता है.

दरअसल, केरल क्रिकेट एसोसिएशन (केसीए) ने श्रीसंत को टीम में चुनने का फैसला लिया है. एसोसिएशन का कहना है कि अगर श्रीसंत अपनी फिटनेस साबित करते हैं तो वे सितंबर में खेलते नजर आ सकते हैं.

7 साल के लिए BCCI ने किया था बैन

2013 में आईपीएल मैच फिक्सिंग के आरोपों के बाद श्रीसंत को बीसीसीआई ने 7 साल के लिए बैन कर दिया था. केरल रणजी टीम ने कोच टीनू योहनन से बात करके श्रीसंत को टीम में शामिल करने का फैसला किया है.

2015 में विशेष अदालत ने बरी किया था

मई 2013 में दिल्ली पुलिस ने मैच फिक्सिंग के आरोप में श्रीसंत और राजस्थान रॉयल्स के दो साथी खिलाड़ियों अजीत चंडिला और अंकित छवन को गिरफ्तार किया था. बीसीसीआई ने इसके बाद तीनों खिलाड़ियों को बैन कर दिया था. हालांकि, इन आरोपों के खिलाफ श्रीसंत ने लंबी लड़ाई और साल 2015 में विशेष अदालत ने उन्हें आरोपों से बरी कर दिया था.

2018 में हाई कोर्ट ने आजीवन बैन को खत्म किया था

इसके बाद साल 2018 में केरल हाई कोर्ट ने उन पर लगे अजीवन प्रतिबंध को खत्म किया. लेकिन, 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने उनके अपराध को बरकरार रखा लेकिन बीसीसीआई को उसकी सजा कम करने को कहा. बाद में बोर्ड ने उनपर लगे आजीवन प्रतिबंध को सात साल तक कम कर दिया था जो सितंबर 2020 में खत्म हो जाएगा.

खुद को साबित करूंगा : श्रीसंत

श्रीसंत ने कोच्चि में कहा कि मैं केरल क्रिकेट एसोसिएशन का कर्जदार हूं कि उन्होंने मुझे एक मौका दिया. मैं अपनी फिटनेस साबित करूंगा ताकि मैदान पर उतर सकूं. हाल ही में केसीए ने तेज गेंदबाज टीनू योहनन को टीम का हेड कोच नियुक्त किया है. केसीए के सचिव श्रीथ नायर ने कहा कि उनकी वापसी टीम के लिए अहम साबित होगी.