सेलेक्टर की जगह गांगुली ने क्यों दिया बयान, दिलीप वेंगसरकर ने पूछे सवाल

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम विवादों के बीच साउथ अफ्रीका (India Tour Of South Africa) दौरे पर पहुंची है।

इस दौरे पर रवाना होने से एक दिन पहले टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने वनडे कप्तानी से हटाए जाने के मसले र जो बयान दिया उससे भारतीय क्रिकेट में बवाल मच गया।

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की आलोचना करते हुए इस पूरे प्रकरण को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है।

पूर्व सेलेक्टर वेंगसरकर ने खलीज टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘ सौरव गांगुली का सेलेक्शन कमिटी की जगह आकर बयान नहीं देना चाहिए था। गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष हैं। टीम में चयन और कप्तानी की विवाद पर चीफ सेलेक्टर को आकर बयान देना चाहिए।’

कोहली (Kohli vs BCCI) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि टी20 टीम की कप्तानी छोड़ते समय उन्होंने चयनकर्ताओं के सामने यह बात स्पष्ट कर दी थी कि वो आगे भी वनडे और टेस्ट टीम की कप्तानी करना चाहते हैं। लेकिन दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टेस्ट टीम के चयन की चर्चा के बाद उन्हें जानकारी दी गई कि वो अब वनडे टीम के कप्तान नहीं होंगे।

‘इस पूरे एपिसोड से आहत हुए होंगे कोहली’

इसके अलावा गांगुली ने बयान दिया था कि उन्होंने कोहली को टी20 कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए कहा था। लेकिन कोहली ने गांगुली के दावे को सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि उनसे किसी ने इस बारे में कोई चर्चा नहीं की।

बकौल वेंगसरकर, ‘मुझे लगता है कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। इस पूरे एपिसोड को क्रिकेट बोर्ड को बेहतर तरीके से हैंडल करना चाहिए था। इस पूरे प्रकरण से विराट जरूर आहत हुए होंगे। विराट ने भारतीय क्रिकेट के लिए अपना अहम योगदान दिया है। बोर्ड के इस तरह का बर्ताव उन्हें जरूर आहत करेगा।’

टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका में 3 टेस्ट और 3 वनडे मैच खेलेगी

कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया इस समय साउथ अफ्रीकी दौरे पर है, जहां उसे 3 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। सीरीज का पहला टेस्ट मैच 26 दिसंबर से सेंचुरियन में खेला जाएगा। टेस्ट सीरीज में भारत को ओपनर रोहित शर्मा की सेवाएं नहीं मिल पाएंगी। रोहित चोट की वजह से टेस्ट सीरीज से बाहर हैं। इसके बाद 3 मैचों की वनडे सीरीज खेली जाएगी।