गो ह;त्या के खिलाफ योगी सरकार ने पास किया बेहद कड़ा कानून, 10 साल की जेल और संपत्ति होगी जब्त

लखनऊ। यूपी की योगी सरकार ने गो ह;त्या के खिलाफ नया और बेहद कड़ा कानून पास किया है। नए कानून में प्रावधान किया गया है कि गो ह;त्या के आरोप में पकड़े जाने वालों को 3 से 10 साल तक के लिए जेल भेजा जाएगा। इसके साथ ही गो-ह;त्या’रों की संपत्ति भी जब्त होगी और दं;गा’इयों की तरह उनकी पहचान के पोस्टर भी लगेंगे।

इस संबंध में यूपी सरकार के संसदीय कार्य मंत्री सुरेंद्र खन्ना ने बताया कि योगी सरकार ने गो-व’ध निवारण संशोधन विधेयक 2020 पास किया है। इस कानून से यूपी में गो ह;त्या के खिलाफ कानून और सख्त हो गया है।

गैर जमानती अप;रा’ध

यूपी में अब गो;क’शी का अप’रा;ध गैर-जमानती होगा. नए कानून में गो ह;त्या पर 3 से 10 साल की जेल और 5 लाख जुर्माने का प्रावधान है। गोवंश के अंग-भंग करने पर 7 साल की जेल और 3 लाख तक जुर्माना होगा।

पहली बार गो ह;त्या के आरोप साबित होने पर 3 से 10 साल की सजा का प्रावधान है। 3 लाख से लेकर 5 लाख रुपये तक के जुर्माने का भी प्रावधान है। दूसरी बार गोकशी का आरोप साबित होने पर जुर्माने और सजा दोनों भुगतनी होगी। इसके साथ ही गैं;गस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई और संपत्ति जब्त करने का भी प्रावधान किया गया है।

सार्वजनिक रूप से पोस्टर लगाएगी योगी सरकार

इसके अलावा, योगी सरकार अब गो तस्करी से जुड़े अपराधियों के सार्वजनिक पोस्टर भी लगाएगी। गो त;स्क’री में शामिल गाड़ियों के ड्राइवर,ऑपरेटर और मालिक भी इस कानून के तहत आरोपी बनाए जा सकेंगे और तस्करों से छुड़ाई गई गायों के भरण पोषण का एक साल का खर्च भी आरोपियों से ही वसूला जाएगा।