होम टॉप न्यूज भारत के इस पड़ोसी देश की इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर USA ने लगाया...

भारत के इस पड़ोसी देश की इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर USA ने लगाया बैन, पूरी दुनिया के सामने उड़ा मजाक

0
187
PIA-Ban
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. दुनिया भर में फर्जी पायलटों की वजह से फजीहत कराने वाले पाकिस्तान को अमेरिका ने बड़ा झटका दिया है. अमेरिका ने पाकिस्तान की इंटरनेशनल फ्लाइट्स संचालित करने वाली PIA पर बैन लगा दिया है. अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसपोर्टेशन की तरफ से कहा गया है कि हमने अपना पुराना फैसला बदल लिया है, जिसके तहत PIA की चार्टर फ्लाइटस चल सकती थी.

दरअसल, अमेरिका के परिवहन विभाग ने फर्जी लाइसेंस उड़ाने वाले विमान चालकों की घटना सामने आने के बाद पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस पर प्रतिबंध लगाया है.

क्यों लगा बैन?

पाकिस्तानी पायलटों के सर्टिफिकेट व योग्यता पर फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (FAA) की चिंता सामने आने के बाद अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसपोर्ट ने बैन का फैसला किया. बता दें कि पिछले महीने पाकिस्तान में कई पायलट फर्जी दस्तावेजों के आधार पर काम करते पाए गए थे. इसके बाद पाकिस्तान ने कई पायलटों को सस्पेंड कर दिया था.

यूरोप में भी ऑथराइजेशन सस्पेंड

दूसरी तरफ यूरोपियन यूनियन एविएशन सेफ्टी एजेंसी ने PIA के ऑथराइजेशन को सस्पेंड कर दिया. यह रोक 6 महीने के लिए लगाई गई है. पाकिस्तान की जियो न्यूज ने कहा कि PIA ने अमेरिकी प्रतिबंध की पुष्टि की है. PIA ने कहा कि एयरलाइंस को लेकर जिन जरूरी सुधारों की जरूरत है, उस पर वो काम करेगा.

कैसे सामने आया पूरा मामला?

मई में पाकिस्तान का एक जेट विमान हा’द’से का शि;का’र हो गया था इसमें 97 लोगों की जा’न चली गई थी. इस हा’द’से की जांच के बाद ही पायलटों की फर्जी सर्टिफिकेशन का मामला सामने आया.

इससे पहले जून में वियतनाम के विमानन प्राधिकरण ने भी बताया कि स्थानीय एयरलाइंस के लिए काम कर रहे सभी पाकिस्तानी पायलट को हटा दिया गया.

इन देशों में भी लगा प्रतिबंध

ऐसा पहली बार नहीं है कि पाकिस्तानी पायलटों पर अमेरिका या यूरोपीय देशों पर प्रतिबंध लगा हो. फर्जी सर्टिफिकेट के आधार पर नौकरी पाने वाले इन पायलटों पर खाड़ी देशों ने भी सेवाओं से हटा दिया था.

कुवैत, कतर, यूएई, ओमान ने फर्जी सर्टिफिकेट के कारण पाकिस्तानी पायलटों को निकाला जा चुका है. हाल ही में वैश्विक एयरलाइंस संस्था आईएटीए ने कहा था कि पाकिस्तानी अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस के पायलटों के लाइसेंस में अनियमितताएं पाई गई हैं, ‘जो सेफ्टी कंट्रोल में गंभीर चूक है.’

पाकिस्तान ने निलंबित किए थे 262 पायल

इसके बाद पाकिस्तान ने पिछले हफ्ते 262 एयरलाइन पायलटों को हटा दिया था. पाकिस्तान ने कहा था कि इन पायलटों की विश्वसनीयता फ’र्जी हो सकती है, इसलिए हम इन्हें हटा रहे हैं.’ पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने फर्जी लाइसेंस हैं या फिर उन्होंने फर्जीवाड़े से परीक्षा पास की है.

2018 में ही सामने आ गया था मामला

पाकिस्तान में पायलटों की जांच 2018 में एक विमान हा’द’से के बाद शुरू हुई. पता चला कि उस विमान के पायलट के रिकॉर्ड में लाइसेंस के लिए परीक्षा का जो दिन दर्ज था, उस दिन तो सरकारी छुट्टी थी. इसका मतलब है कि टेस्टिंग हुई ही नहीं और लाइसेंस फर्जी था. इसी का नतीजा था कि 2019 में पीआईए के 16 पायलटों को विमान उड़ाने से रोक दिया गया. इस बीच कराची की घटना के बाद पूरी दुनिया में पाकिस्तान की जमकर फजीहत हुई