तैयार हुई कोरोना वायरस को जड़ से खत्म करने वाली रामबाण दवा, ह्यूमन ट्रायल में 94% सफल

नई दिल्ली. दुनिया भर में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच आखिरकार कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार हो गई है. वैसे भारत समेत कई देश अब तक वैक्सीन बनाने का दावा कर चुके हैं, लेकिन दवा को तभी सफल माना जाता है, जब उसके नतीजे उम्मीद के मुताबिक मिले.

बता दें कि इंसानी ट्रायल सफल होने के बाद ही किसी दवा को सफल माना जाता है. अमेरिका की एक कंपनी ने दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस का वैक्सीन बनाने के साथ सफल क्लीनिकल ट्रायल भी पूरा कर लिया है.

94 फीसदी सफल रहा ट्रायल

अमेरिकी दवा कंपनी इनोवियो (Inovio) ने अपने नए टीके INO-4800 का इंसानों पर सफल क्लिनिकल ट्रायल कर लिया है. लगभग 40 लोगों पर इस टीके का परीक्षण किया गया. सबसे अच्छी बात ये है कि इस दवा का असर 94 फीसदी सफल रहा है.

क्या खास है इस टीके में

वैज्ञानिकों का कहना है कि नए टीका एक खास तरीके से काम करता है. इस टीके को इंजेक्शन की मदद से शरीर के भीतर छोड़ा जाता है. ये दवा कुल मिलाकर एक तरह का DNA है जो शरीर के भीतर कोरोना वायरस के खिलाफ इम्युन सिस्टम तैयार करता है.

ये भी पढ़ें : कोरोनिल विवाद पर बोले बाबा रामदेव, हमें देशद्रोही साबित करना चाहती थी कुछ दवा कंपनियां

बताते चलें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ही इनोवियो कंपनी को जल्द से जल्द कोरोना वायरस टीका तैयार करने के काम में लगाया है. नए टीके के ट्रायल को पहले ही FDA की अनुमित मिल गई है. परियोजना के तहत ये टीका कंपनी अगले जनवरी तक 300 मिलियन टीके तैयार करेगी.