UP Election: योगी का अखिलेश पर निशाना- गरीबों के लिए जो राशि थी, वह कब्रिस्तान पर बर्बाद कर दी

नई दिल्ली: UP Election 2022: उत्तर प्रदेश चुनाव (UP Chunav) के मैदान में अब कब्रिस्तान की भी इंट्री को गई है। जिन्ना, हिंदू-हिंदुत्व से होता हुआ विवाद कब्रिस्तान तक पहुंच गया है। शनिवार को यह मामला प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ (Yogi Adityanath) ने उठाया।

उन्होंने (Yogi Adityanath) पूर्व की सरकारों पर हमला बोला। सीएम ने कहा कि गरीबों के विकास के लिए जो पैसा मिला था, उसे पूर्व की सरकार ने कब्रिस्तानों पर खर्च कर दिया। उनके निशाने पर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव थे।

मुख्यमंत्री (Yogi Adityanath) ने उर्दू और संस्कृत का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार पर आरोप लगाया कि अक्षम उर्दू अनुवादक नियुक्त किए गए, लेकिन संस्कृत स्कूलों के छात्र और शिक्षकों के लिए कुछ भी नहीं किया गया।

सीएम योगी (Yogi Adityanath) ने अब इस मुद्दे को छेड़कर प्रदेश की चुनावी राजनीति में एक नए मुद्दे की शुरुआत की है। इस पर निश्चित तौर पर आने वाले समय में वार-पलटवार का दौर चलेगा। सीएम योगी आदित्यनाथ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पैत्रिक गांव बटेश्वर धाम से आगरा में 230 करोड़ की लागत से 11 परियोजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास के मौके पर यह हमला बोला है।

लूट के पैसों पर छापा का इशारा

सीएम योगी ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेताओं के परिसरों पर छापेमारी की ओर भी इशारों में तंज कसा। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने लोगों को लूटने का काम किया। कब्रिस्तान जैसे मामलों पर पैसे बर्बाद किए गए। उर्दू न जानने वाले अनुवादकों की नियुक्ति की गई। सीएम ने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार ने संस्कृत स्कूलों की देखभाल की। योगी ने आयकर छापों पर कहा कि पिछली सरकार ने लोगों को लूटा था।

योगी ने कहा कि वे पिछले पांच साल से सत्ता से बाहर हैं, फिर भी उनके घरों से 200 करोड़ रुपये का पता चला है। उन्होंने आरोप लगाते हुए सवाल किया कि यह पैसा कहां से आया? ऐसा लगता है कि जब वे राज्य में सत्ता में थे, तब इसे लूटा और संग्रहित किया। उन्होंने दावा किया कि पिछली सरकार ने गरीबों को लाभ से वंचित करके अपराध किया। उन्होंने आरोप लगाया कि अब जिस नकदी का पता चल रहा है वह गरीबों के लिए थी, लेकिन उसका दुरुपयोग किया गया।

पूर्व पीएम को बताया प्रेरणास्रोत

सीएम योगी ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को प्रेरणास्रोत बताया। इस मौके पर 230 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास के बाद उन्होंने कहा कि अटल जी ने हम सभी को प्रेरित किया और विभिन्न योजनाओं का मार्ग प्रशस्त किया।

उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया कि राज्य सरकार बटेश्वर के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। अटल जी ने मूल्यों व सिद्धांतों की राजनीति की थी, अवसरवादी राजनीति को उन्होंने हमेशा दुत्कारा था। उन्होंने घोषणा की कि यूपी सरकार बटेश्वर धाम में एक संग्रहालय, सांस्कृतिक परिसर और एक पार्क बनाएगी। ‘अटल म्यूजियम’ में अटल जी के बचपन से लेकर उनके पूर्वजों की कथा का चित्रण होगा।

पूर्व की सरकारों को आड़े हाथों लिया

सीएम योगी ने पूर्व की सरकारों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार अब यूपी के युवाओं को टैबलेट और स्मार्टफोन दे रही है। इसके अलावा अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर विभिन्न योजनाएं चल रही हैं। उनके नाम पर मेडिकल कॉलेज, आवासीय विद्यालय और इंटरमीडिएट स्कूल बन रहे हैं। एक्सप्रेसवे का निर्माण हो रहा है। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति पैदा नहीं होती है।