UP Election: दिल्ली में BJP नेताओं का मंथन, 45 से अधिक MLA का कट सकता है टिकट

डेस्क: उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) को लेकर दिल्ली में मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) की एक अहम बैठक हुई। खबर है कि 45 से अधिक सीटिंग MLA के टिकट काटे जा सकते हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेताओं का मानना ​​है कि योगी सरकार (Yogi Govt) के खिलाफ जनता में कोई नाराजगी नहीं है, नाराजगी स्थानीय विधायकों से है।

10 घंटे तक चली इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने यूपी में बीजेपी के 6 क्षेत्रों की क्षेत्रवार समीक्षा की। इस दौरान सभी क्षेत्रीय प्रभारियों से बीजेपी के कामकाज और पार्टी के समीकरण को लेकर चर्चा की गई। बैठक में आज उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा नहीं हुई, इसके लिए बुधवार सुबह 11:00 बजे दोबारा पार्टी की बैठक होगी।

सूत्रों के अनुसार, भाजपा इस बार बड़ी संख्या में विधायकों के टिकट काटने की तैयारी में है। पार्टी की ओर से कहा जा रहा है कि ऐसे विधायक ही इस्तीफा दे रहे हैं, जिन्हें इस बार चुनाव में टिकट न मिलने का डर है। पार्टी के एक बड़े नेता का कहना है कि योगी सरकार से लोगों के मन में कोई भी नाराजगी नहीं है।

बीजेपी का डैमेज कंट्रोल शुरू, मंत्री धर्म सिंह सैनी बोले- बीजेपी में ही रहूंगा

उधर, योगी सरकार में आयुष मंत्री डा। धर्म सिंह सैनी ने समाजवादी पार्टी में शामिल होने की खबरों का खंडन किया है। दरअसल, चर्चा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने सपा नेताओं को भाजपा छोड़ने को तैयार बैठे विधायकों की एक सूची सौंपी है, जिसमें सहारनपुर के भाजपा विधायक और योगी सरकार में आयुष मंत्री डा।धर्म सिंह सैनी का नाम भी बताया जा रहा है। इस पर मंत्री सैनी का कहना है, ”यह खबर गलत है, मैं बीजेपी में ही रहूंगा।”

बता दें कि इस समय भारतीय जनता पार्टी में इस्तीफों की झड़ी लगी हुई है। उत्तर प्रदेश में चुनावी घोषणा होने के बाद भाजपा को झटका लगा है। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ले ली है। इनके अलावा 3 और भी विधायकों ने बीजेपी छोड़ दी है। इनमें बांदा (Banda) जिले की तिंदवारी विधानसभा से विधायक ब्रजेश प्रजापति, शाहजहांपुर की तिलहर सीट से विधायक रोशनलाल वर्मा और कानपुर के बिल्हौर से विधायक भगवती सागर शामिल हैं। खबर है कि इन विधायकों ने स्वामी प्रसाद मौर्य के समर्थन में बीजेपी को छोड़ा है।

वहीं सोमवार को बदायूं की बिल्सी विधानसभा से भाजपा के विधायक पंडित आरके शर्मा ने भाजपा को अलविदा कह दिया था। शर्मा ने अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा ज्वाइन कर ली थी।

इस्तीफों पर क्या बोले यूपी के डिप्टी सीएम ?

यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का कहना है कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने किन कारणों से इस्तीफा दिया है, मैं नहीं जानता हूं। उनसे अपील है कि बैठकर बात करें। जल्दबाजी में लिए हुए फैसले अक्सर गलत साबित होते हैं।

उत्तर प्रदेश में सात चरणों में विधानसभा चुनाव होना है। पहले चरण के लिए वोटिंग 10 फरवरी को होनी है। जानकारी के मुताबिक, पहले चरण की सीटों के उम्मीदवारों का ऐलान 15-16 जनवरी तक हो सकता है।

दिल्ली में बीजेपी चुनाव समिति और केंद्रीय नेतृत्व के बीच चली बैठक में सीएम योगी, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी शामिल हुए। सूत्रों के मुताबिक, 58 सीटों के दावेदारों के नाम सोमवार शाम लखनऊ में चुनाव अभियान समिति की बैठक में तय हो चुके हैं। कई सीटों पर दो-दो नाम भेजे गए हैं।

यह सूची लेकर प्रदेश के संगठन महामंत्री सुनील बंसल दिल्ली पहुंचे हुए हैं। सोमवार शाम इस लिस्ट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा ने चर्चा की। इस चर्चा में यूपी के प्रभारी राधा मोहन सिंह, सुनील बंसल आदि भी शामिल थे। अब बुधवार को नामों को फाइनल किया जा सकता है।

बता दें कि 14 जनवरी को पहले चरण के चुनाव की अधिसूचना जारी होगी और इसे देखते हुए बीजेपी 15- 16 जनवरी को उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर देगी।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.