पाकिस्तान का भी होगा अफगानिस्तान जैसा हाल, TTP ने किया नई सरकार का ऐलान

पाकिस्तान में आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) ने तबाही मचाकर रख दी है. साथ ही इस आतंकी संगठन ने पूरे पाकिस्तान को मलबे में बदलने का ठान लिया है. खतरनाक आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान ने पाकिस्तान के खिलाफ जिहाद का ऐलान कर दिया है.

यही नहीं, रविवार को टीटीपी ने पाकिस्तान में अपनी नई सरकार के गठन का ऐलान कर दिया और जल्द ही कैबिनेट के विस्तार करने का भी ऐलान कर दिया है. टीटीपी के इस ऐलान से क्लियर हो चुका है कि वो पाकिस्तान का भी अफगानिस्तान जैसा हाल करने पर उतारु हो गया है. टीटीपी पहले से ही पाकिस्तान के मलकंद, मर्दन, कोहाट, बन्नू, डेरा इस्माइल खान, पेशावर और खैबर पख्तूनख्वां काफी मजबूती से पैरा जमाने में सफल होता दिख रहा है.

अब इस आतंकी संगठन के अपने लड़ाकों के लिए पूरे पाकिस्तान में तबाही मचाने का आदेश दिया है. हालांकि, संघर्ष विराम को खत्म किए जाने के बाद से यानी नवंबर के अंत से ही इस संगठन ने पाकिस्तान में गोलीबारी, विस्फोट, आत्मघाती हमले शुरू कर दिए हैं.

आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान का खौफ इस कदर है कि पाकिस्तान ने इस्लामाबाद को हाई अलर्ट पर रखा है. शहर के चप्पे-चप्पे पर जवानों की तैनाती की गई है. पाकिस्तानी पुलिस, रेंजर्स और सेना के जवानों ने पूरे शहर के किले में तब्दील कर दिया है. हर एक शख्स की जांच की जा रही है. इस्लामाबाद के हाई अलर्ट पर होने की वजह से वहां रह रहे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

दरअसल, पाकिस्तान में 15 साल तक चले संघर्ष विराम को खत्म करते हुए टीटीपी ने अपने विद्रोह को आखिरी मुकाम तक पहुंचाने की ठान ली है. दिसंबर में टीटीपी ने पाकिस्तान में जमकर बवाल किया और कई लोगों को मौत के घाट उतार दिया. टीटीपी के हमलों में बड़ी संख्या में पाकिस्तानी सेना के जवान भी मारे गए.

टीटीपी के 5 आतंकी गिरफ्तार
नए साल के पहले ही दिन पाकिस्तानी सेना ने कार्रवाई करते हुए तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के 5 आतंकियों को गिरफ्तार किया है जो पाकिस्तानी सेना को निशाना बनाने के लिए साजिश रच रहे थे. ये गिरफ्तारी पाकिस्तान में पंजाब के तीन जिलों, शेखूपुरा, डी.जी. खान और मुल्तान से हुई है.

पाकिस्तान के ‘काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट’ के मुताबिक, गिरफ्तार आतंकियों के पास से कैश के अलावा आत्मघाती जैकेट, विस्फोटक, हथियार और बैन हो चुके साहित्य भी बरामद हुए हैं. एक हफ्ते पहले भी पंजाब से टीटीपी से जुड़े 7 आतंकियों की गिरफ्तारी की गई थी.

मुठभेड़ में तीन पाकिस्तानी सैनिक ढेर
दिसंबर के अंत में खैबर-पख्तूनख्वा में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के आतंकियों ने 3 पाकिस्तानी सैनिकों को ढेर कर दिया. पाकिस्तानी सेना के मुताबिक, कुर्रम जिले में टीटीपी के आतंकियों और पाकिस्तानी सैनिकों के बीच मुठभेड़ हुई. इसमें दो आतंकी भी मारे गए. वहीं, सेना के तीन जवानों की भी मौत हो गई.

इस्लामाबाद में कार बम विस्फोट के बाद टीटीपी की तरफ से किया गया ये दूसरा हमला था. टीटीपी को अलकायदा का करीबी माना जाता है. ये संगठन अफगानिस्तान पर तालिबान द्वारा कब्जा किए जाने के बाद से एक्टिव हो गया है. दिसंबर के आखिरी सप्ताह में भी टीटीपी के आतंकियों ने बलूचिस्तान में कई हमले किए थे और पाकिस्तान के 6 जवानों को मौत के घाट उतार दिया था.