भगवान के दर पर सब समान, मंदिर ने नहीं बदले नियम, बिना पूजा-आरती किए लौटा BJP का बड़ा नेता

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के सोनपुर आगमन को लेकर सुबह साढ़े आठ बजे से अपराह्न एक बजे तक लोगों को सड़कों पर इंतजार करना पड़ा। कुहासे की वजह से फ्लाईट में देरी की बात बताई गई।

राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के स्वागत के लिए जेपी सेतु बजरंग चौक से बाबा हरिहरनाथ मंदिर जाने के रास्ते में जगह-जगह स्वागत तोरण द्वार बनाए गए थे, जहां बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता एवं समर्थक हाथों में फूल-माला एवं भाजपा के झंडा लेकर उनकी आगवानी एवं स्वागत में खड़े थे।

बाजे-गाजे के साथ महिलाओं का भी बड़ा हुजूम सड़क पर स्वागत में जुटा दिखा। हालांकि, पूरी तैयारी के बावजूद जेपी नड्डा मंदिर में पूजा अर्चना नहीं कर सके और उन्हें बिना पूजा-अर्चना के ही वैशाली के लिए प्रस्थान करना पड़ा।

बिना पूजा किए ही हरिहरनाथ मंदिर से लौटे जेपी नड्डा
दरअसल, दोपहर के 12 बजे मंदिर का पट बंद हो जाता है। यूं तो जेपी नड्डा का सुबह ही मंदिर में पूजा-अर्चना का कार्यक्रम निर्धारित था, लेकिन फ्लाइट में देरी के कारण उन्हें पहुंचते-पहुंचते एक से भी अधिक हो गए। जब वे हरिहरनाथ मंदिर में पूजा के लिए पहुंचे, तब तक पट बंद हो चुका था, जिसके चलते जेपी नड्डा दर्शन नहीं कर सके।

इसके बाद वे तय कार्यक्रम के तहत सोनपुर से हाजीपुर होते हुए वैशाली की ओर निकल गए।

 

सैंकड़ों की संख्या में जुटे लोग
जेपी नड्डा के आगमन को लेकर बजरंग चौक-हरिहरनाथ मंदिर मुख्य सड़क पर मही नदी किनारे सोनपुर में सतिहारा के पास सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं व ग्रामीणों की भीड़ जुटी थी।

समाजसेवी अमित सिंह उर्फ पिंकू सिंह, भाजपा के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के जिला संयोजक वरिष्ठ नेता नरेश सिंह नरेशू,सबलपुर पश्चिमी के सरपंच राजेन्द्र सिंह, सर्वजीत सिंह, बबलू सिंह,वार्ड नम्बर-18 के पार्षद प्रियांजली सिंह एवं टूटू सिंह, मदन सिंह, रमेश सिंह आदी भी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के स्वागत को लेकर अगुवाई में डटे थे। शहीद महेश्वर चौक पर भी दुर्गा स्थान एवं अमर शहीद महेश्वर सिंह की प्रतिमा स्थल पर काफी संख्या में लोग जुटे थे। प्रतिमा स्थल को पुष्पों से सज्जित किया गया था।