सपा कार्यकर्ताओं पर मुकदमे से स्‍वामी प्रसाद मौर्य आगबबूला, बोले- योगी के खिलाफ हो FIR

डेस्क: समाजवादी पार्टी कार्यालय में हुई ‘वर्चुअल’ रैली (SP Virtual Rally) में शामिल 2500 लोगों पर एफआईआर दर्ज होने से स्‍वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) भड़क गए हैं।

बीजेपी छोड़कर सपा में गए मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने कहा, ‘आज गोरखपुर में मुख्यमंत्री हजारों लोगों के साथ खिचड़ी खाई उनपर दर्ज हो मुकदमा। अगर मुकदमा लिखा जा रहा है तो सबसे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi adityanath) पर दर्ज हो। सीएम खुद आचार संहिता तोड़ रहे हैं। उन्‍होंने सार्वजनिक रूप से हजारों लोगों के बीच खिचड़ी खाई है।’

सपा कार्यालय (SP Virtual Rally) में शुक्रवार को भारी भीड़ उमड़ने पर पार्टी के ढाई हजार कार्यकर्ताओं पर गौतमपल्ली थाने में केस दर्ज हुआ है। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने बताया कि आपदा प्रबंधन व महामारी अधिनियम समेत छह धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई। सपा ऑफिस में मंच पर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) तथा स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) के साथ ही अन्य काफी लोग बिना मास्क के थे। इतना ही नहीं सपा कार्यालय में बड़ी तादाद में लोग बिना मास्क लगाए टहल रहे थे।

स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि हमने पांच साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया। कुछ कहते हैं कि मैंने बेटे के चक्कर में भाजपा छोड़ी? उन्हें जानना चाहिए कि भाजपा ने पिछड़ों, दलितों, वंचितों, गरीबों व अल्पसंख्यकों की आंख में धूल झोंक सरकार बनाई थी। जनता से कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य या केशव प्रसाद मौर्य सीएम होंगे, लेकिन गोरखपुर से लाकर सीएम बिठा दिया। सरकार बनाएं दलित व पिछड़े और मलाई खाएं पांच फीसदी अगड़े।

धर्म सिंह सैनी ने कहा कि अगर कोविड नहीं होता तो 10 लाख लोग आज अखिलेश के स्वागत में आए होते थे। 10 मार्च को अखिलेश को सीएम व 2024 में पीएम की शपथ दिलाएंगे।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.