सुशांत सिंह केस की सीबीआई जांच, उद्धव सरकार और मुंबई पुलिस की भी बढ़ सकती है मुसीबत

0
394
Sushant Uddhav Rhea
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपना अहम फैसला सुना दिया है। सुशांत सिंह केस की जांच सीबीआई को आज सुप्रीम कोर्ट ने सौंप दी है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब सुशांत सिंह केस की जांच सीबीआई करेगी।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस और रिया चक्रवर्ती को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, महाराष्ट्र पुलिस इस मामले की जांच खुद करना चाहती थी। जबकि, रिया इस मामले को पटना से मुंबई ट्रांसफर करवाना चाहती थीं।

दो महीने से चल रही थी मांग

सुशांत सिंह की मौत के करीब दो महीने हो गए हैं और तब से सुशांत का परिवार सीबीआई जांच की मांग कर रहा था। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में बिहार में दर्ज एफआईआर को सही ठहराया है। इसके अलावा, मुंबई पुलिस को जांच में सहयोग करने का आदेश दिया है।

न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की एकल पीठ ने सुशांत सिंह मौत मामले पर फैसला सुनाया। न्यायमूर्ति रॉय ने 11 अगस्त को इस याचिका पर सुनवाई पूरी की थी।

बिहार सरकार ने की थी सीबीआई जांच की मांग

बिहार सरकार ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि ‘राजनीतिक प्रभाव’ की वजह से मुंबई पुलिस ने एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के मामले में प्राथमिकी तक दर्ज नहीं की है।

दूसरी ओर, महाराष्ट्र सरकार की दलील थी कि इस मामले में बिहार सरकार को किसी प्रकार का अधिकार नहीं है। रिया चक्रवर्ती के वकील का कहना था कि मुंबई पुलिस की जांच इस मामले में काफी आगे बढ़ चुकी है और उसने 56 व्यक्तियों के बयान दर्ज किए हैं।

पिता को नहीं था महाराष्ट्र पुलिस पर भरोसा

सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता विकास सिंह का कहना था कि उनका महाराष्ट्र पुलिस में भरोसा नहीं है। उनका कहना था कि इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की पुष्टि की जाए और मुंबई में महाराष्ट्र पुलिस को इस मामले में सीबीआई को हर तरह से सहयोग करने का निर्देश दिया जाए।