Subramanian Swamy ने खोला BJP के खिलाफ मोर्चा, कहा-कल तक अमित मालवीय को हटाए पार्टी

0
373
Subramanian Swamy ने खोला BJP के खिलाफ मोर्चा, कहा-कल तक अमित मालवीय को हटाए पार्टी
(Image Courtesy: Google)

Subramanian Swamy: भारतीय जनता पार्टी से राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने अपनी ही पार्टी बीजेपी की आईटी सेल (BJP IT Cell) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. बुधवार सुबह सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर लिखा कि अगर कल तक BJP IT cell चीफ अमित मालवीय (Amit Malviya) को नहीं हटाया गया, इसका मतलब ये होगा कि पार्टी मुझे बचाना नहीं चाहती है.

राज्यसभा सांसद मंगलवार से ही अमित मालवीय (Amit Malviya) के खिलाफ ट्विटर पर मोर्चा खोले हुए हैं.

Subramanian Swamy ने किया ट्वीट

बुधवार सुबह उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि अगर कल तक अमित मालवीय को बीजेपी आईटी सेल से नहीं हटाया गया, तो इसका मतलब पार्टी मुझे डिफेंड नहीं करना चाहती है. ऐसे में अगर पार्टी में ऐसा कोई फोरम नहीं है जहां मैं अपनी राय रख सकूं तो मुझे ही खुद को डिफेंड करना होगा.

इससे पहले भी सुब्रमण्यम स्वामी ने बीते दिनों बीजेपी आईटी सेल (BJP IT Cell) की आलोचना की थी. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि बीजेपी की आईटी सेल (BJP IT Cell) दु ष्ट हो चुकी है. कुछ मेंबर फ र्जी आईडी बनाकर मुझपर ह म’ला कर रहे हैं, अगर मेरे प्रशंसक ऐसा करने पर उतरे तो उसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं रहूंगा. जैसे मुझपर ह म’ला करने के लिए बीजेपी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता.

सुशांत केस में भी खोल रखा है मोर्चा

आपको बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी उन सांसदों से हैं, जो लगातार अपने बयानों के कारण चर्चा में रहते हैं. ऐसे में वो कई बार पार्टी के खिलाफ भी बोलते हैं तो कुछ बयान पार्टी के लिए मुसीबत बन जाते हैं. सुब्रमण्यम ने पिछले कई दिनों से कंगना रनौत के समर्थन और सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर ट्विटर पर मोर्चा खोला हुआ है.

ये भी पढ़ें : Oxford corona vaccine: टूटी कोरोना वैक्सीन की उम्मीद, साइड इफेक्ट की वजह से अंतिम चरण में रुका ट्रायल

उन्होंने आरोप लगाया कि अमित मालवीय (Amit Malviya) की अगुवाई में बीजेपी की आईटी सेल (BJP IT Cell) उन्हें ही ट्रोल करने में जुटी है और लगातार उनपर निशाना साधा जा रहा है. सुब्रमण्यम स्वामी से पहले भी कई अन्य पार्टियों के नेताओं ने अमित मालवीय पर आईटी सेल का गलत इस्तेमाल, प्रोश्पे गेंडा फैलाने और सोशल मीडिया पर निशाना साधने का आरोप लगाया हुआ है.