प्रवासी मजदूरों के लिए सोनू सूद ने खोले दिल के दरवाजे, कहा-पैदल घर क्यों जाओगे दोस्त, नंबर भेजो

नई दिल्ली. कोरोना संकट की वजह से लॉकडाउन के बीच प्रवासियों की घर वापसी का सिलसिला जारी है. बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद भी इस मुश्किल वक्त में प्रवासी मजदूरों की खूब मदद कर रहे हैं.

सोनू सूद बॉलीवुड के उन चंद सेलिब्रिटीज में से एक हैं, जो लॉकडाउन के दौरान दिल खोलकर लोगों की मदद कर रहे हैं.

बेबस लोगों की मदद कर सोनू

कोरोना संकट के बाद से ही सोनू लोगों की खूब मदद कर रहे हैं. पहले गरीबों को राशन फिर हर दिन 45 हजार लोगों को खाना खिलाने के बाद सोनू सूद ने कई बसें बुक कराकर अब तक हजारों लोगों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाया है. अब एक बार फिर सोनू ने सोशल मीड‍िया प्लेटफॉर्म ट्व‍िटर के जर‍िए घर जाने वाले बेबस लोगों से संपर्क किया और उनकी मदद की है.

सोशल मीडिया से कर रहे लोगों की मदद

बिहार के रहने वाले एक व्यक्ति ने शुक्रवार को ट्विटर के जरिए सोनू सूद से मदद मांगी. सोनू सूद को टैग करते हुए एक व्यक्ति ने लिखा, भाई हम लोग 16 दिन से पुलिस चौकी के चक्कर लगा कर थक चुके हैं। हम लोगों का काम नहीं हो रहा है. हमें धारावी से बिहार जाना है.

कुछ ही देर बाद सोनू सूद ने उस व्यक्ति की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘भाई चक्कर लगाना बंद करो और रिलैक्स करो. दो दिन में आप बिहार में अपने घर का पानी पियोगे, अपनी डीटेल्स भेजो.’

पैदर क्यों जाओगे दोस्त…

इसी तरह ट्विटर पर एक और व्यक्ति ने सोनू सूद से मदद मांगी. उस व्यक्ति ने लिखा, ‘सर प्लीज ईस्ट यूपी में कभी भी भेज दो, वहां से पैदल अपने गांव चले जाएंगे सर.’

सोनू ने इस व्यक्ति की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाते हुए लिखा, दोस्त पैदल क्यों जाओगे? अपना नंबर भेजो.’

हजारों लोगों को खिला रहे खाना

बता दें कि सोनू सूद पहले भी कई मजदूरों को उनके घर पहुंचा चुके हैं. वह ट्विटर और सोशल मीडिया के जरिए उन लोगों से संपर्क कर रहे हैं, जिन्हें मदद की जरूरत है. इसके साथ ही सोनू सूद ने अपने फाइव स्टार होटल के दरवाजे भी मेडिकल कर्मचारियों के लिए खोल रखे हैं.

देशभर में लॉकडाउन घोषित होने के बाद सोनू सूद ने अपने पिता शक्ति सागर सूद के नाम पर एक स्कीम शुरू की थी. इस स्कीम के तहत वह हर दिन 45 हजार लोगों को खाना खिला रहे थे.