सूर्य ग्रहण के चंद मिनटों बाद भूकंप के झटकों से हिला पूर्वोत्तर भारत, 5.1 मापी गई तीव्रता

नई दिल्ली. रविवार को सदी के सबसे बड़े सूर्य ग्रहण के समाप्त होने के चंद मिनटों बाद पूर्वोत्तर भारत के कई राज्यों में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं. रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 5.1 मापी गई है.

भूगर्भ विभाग के अनुसार, शाम 4.16 मिनट पर असम, मेघालय, मणिपुर और मिजोरम में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. रिक्टर स्केल पर भूकंप 5.1 तीव्रता का रिकॉर्ड हुआ. मिजोरम का आइजोल जिला भूकंप का केंद्र रहा. भूकंप के झटके मजसूस होने के बाद पूर्वोत्तर के राज्यों में लोग अपने घरों से बाहर निकल आए.

पिछले एक महीने में कई बार आ चुके हैं भूकंप के झटके

इससे पहले जम्मू-कश्मीर में लगातार दो दिन भूकंप के कई झटके महसूस किए गए थे. तजाकिस्तान समेत आसपास के इलाकों में 16 जून को भूकंप आया था. सुबह 7 बजे आए इस भूकंप की तीव्रता 5.8 थी. भूकंप का केंद्र तजाकिस्तान के दसहांबे से 341 किलोमीटर दूर रहा. इसका असर जम्मू-कश्मीर में भी देखने को मिला था.

गुजरात में आया था भूकंप

गुजरात में 15 जून को भूकंप का झटका महसूस किया गया था. भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.5 रही. भूकंप का केंद्र कच्छ से 15 किलोमीटर दूर रहा. वहीं, 14 जून को कच्छ में 5.5 तीव्रता का भूकंप आया था.

दो महीने में 13 झटके आए

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पिछले दो महीनों के दौरान भूकंप के हल्के-हल्के कम से कम 13 झटके महसूस किए गए. यह असामान्य नहीं है. पिछले 20 साल में इस क्षेत्र में 600 से ज्यादा भूकंपीय गतिविधियां बाकायदा दर्ज की गई हैं. बता दें कि 8 जून को दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 2.1 थी.