मानवीय मूल्य विकसित करने को 6ठे अंतरराष्ट्रीय मानवता ई-ओलंपियाड का आयोजन

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर स्कूली छात्रों व आम जनमानस में उच्च नैतिक मानवीय मूल्यों की स्थापना द्वारा सदाचार का मार्ग प्रशस्त करने के लिए सतयुग दर्शन ट्रस्ट द्वारा छठे अंतर्राष्ट्रीय मानवता ई-ओलम्पियाड-2020 का आयोजन किया जा रहा है। ऑनलाइन आयोजित 15 मिनट की इस परीक्षा को हर उम्र, वर्ग का व्यक्ति हिस्सा ले सकता है।

इस परीक्षा के अंतर्गत कुल मिलाकर 25 बहुविकल्पीय रुचिकर चित्रात्मक प्रश्नों का समावेश किया गया है जो कि किसी भी धर्म विशेष से सम्बन्धित न होकर पूरी तरह एक मानव के जीवन में नैतिक मानवीय मूल्यों को धारने की आवश्यकता को दर्शाते हैं।

परीक्षा की एक खास विशेषता यह है कि यह परीक्षा परीक्षार्थी अंग्रेजी एवं हिन्दी किसी भी माध्यम में दे सकते हैं। परीक्षा देने वाले प्रतिभागियों को तुरं अपना परिणाम व ई-सर्टिफिकेट प्रदान किया जा रहा हैं। यही नहीं वैश्विक स्तर पर मानवता अपनाकर चरित्रवान बनने का संदेश प्रसारित करने के लिए सजनों इस परीक्षा को पूरी तरह नि:शुल्क रखा गया है। इस परीक्षा में टॉप 1000 विजेताओं को एक लाख रूपये तक के नकद पुरस्कार दिया जाएगा।

सतयुग दर्शन ट्रस्ट पिछले 6 वर्षों से इस अनूठी परीक्षा का आयोजन करता आया है। इस परीक्षा के जरिए प्रतिभागी अपने आत्मनिरीक्षण द्वारा अपने अंतर्निहित मानवीय मूल्यों का स्वयं मूल्यांकन कर, उनका अपने अन्दर विकास करने का प्रयास कर सकता है। कोरोना संकट के बीच इस श्रृंखला में आधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए मानवता विकास के कर्मठ व जुझारू सदस्यों ने इस वर्ष भी ज्यादा से ज्यादा स्कूलों के विद्यार्थियों से सोशल मीडिया के विभिन्न चैनलों, विभिन्न चुनौती पूर्ण, रुचिकर क्रियाक्लापों, एंबेसडर के रूप में कार्य करने वाले विद्यार्थियों को अलग से सम्मानित व पुरुस्कृत करने जैसी गतिविधियों के माध्यम से, मानवता के सही अर्थों से परिचित कराने का भरसक प्रयत्न किया है ताकि स्कूलों व कॉलेजों के विद्यार्थी जो कल के कर्णधार हैं, वे वर्तमान में चरित्रवान इंसान बनें।

यही नहीं मानवता के विषय में विभिन्न प्रतिभागियों के विचारों को भी Speak For Humanity नामक आयोजन के माध्यम से मानवता विकास क्लब के सदस्य अपने यू-ट्यूब चैनल पर प्रसारित कर रहे हैं ताकि अधिक से अधिक सजन इन्हें सुन व समझ, स्वयं में स्वाभाविक परिवर्तन ला सकें।

इसके अलावा सम्पूर्ण भारतवर्ष के प्रधानाचार्य, अध्यापक व अभिभावक भी इस अंतर्राष्ट्रीय मानवता ई-ओलम्पियाड-2020 की सराहना करते हुए इसके विषय में अपने विचारों को सबसे सांझा कर रहे हैं। उनके प्रेरणादायक व उत्साहवर्धक इन संदेशों से प्रेरित होकर अधिक से अधिक विद्यार्थी और लगन के साथ बढ़-चढ़ कर इस परीक्षा में भाग ले रहे हैं। इस तरह समस्त प्रतिभागियों से मिलने वाले इन प्रेरणादायक व जोशीले विचारों/टिप्पणियों से उत्साहित होकर मानवता विकास क्लब के सदस्य, अपने लक्ष्य को बेहतर तरीके से पाने के लिए प्रयत्नशील हो रहे हैं।

सबकी जानकारी के लिए मानवता विकास क्लब के इस अद्‌भुत प्रयास की प्रसिद्ध हस्तियों, प्रेरणादायक वक्ताओं व विभिन्न कलाकारों ने भी भूरि-भूरि प्रशंसा की है। अब तक लगभग साढ़े छ: लाख से भी अधिक प्रतिभागी इस परीक्षा के माध्यम से दिशानिर्देशन प्राप्त कर अपने जीवन का मागदर्शन करने में कामयाब हो चुके हैं। आप चाहें तो आप भी आज ही वेबसाइट www.humanityolympiad.org पर जाकर इस परीक्षा को सम्पन्न कर सकते हैं और औरों को भी इसके प्रति प्रोत्साहित कर परोपकार कमा सकते हैं।

अंत में सबको बता दें कि इस परीक्षा में विजयी होने वाले विद्यार्थियों के नाम दिनाँक 7 सितम्बर 2020, विश्व समभाव दिवस के शुभ अवसर पर ऑनलाइन आयोजित भव्य कार्यक्रम में घोषित किए जाएंगे। सभी श्रोतागण व दर्शक ट्रस्ट व मानवता विकास की वेबसाइट, फेसबुक, इंस्टाग्राम व यू-ट्यूब पर समभाव-समदृष्टि की महत्ता को दर्शाते इस अनोखे कार्यक्रम का आनन्द उठाने के साथ-साथ इन दिव्य गुणों को अपने जीवन में व्यावहारिक रूप से आत्मसात्‌ करने की कला भी सीख सकेंगे। अत: छठे अंतर्राष्ट्रीय मानवता ई-ओलम्पियाड-2020 के विजेताओं का उत्साहवर्धन करने के साथ-साथ अपने जीवन का मार्गदर्शन करने के लिए सपरिवार सतयुग दर्शन ट्रस्ट द्वारा दिनाँक 7 सितम्बर 2020, शाम पौने पाँच से सात बजे तक आयोजित इस कार्यक्रम का आनन्द अवश्य उठाएं। अधिक जानकारी के लिए ट्रस्ट के कार्यालय में सम्पर्क करें।