काशी पहुंचे PM मोदी पर अखिलेश यादव का पलटवार, बोले- भगवान के सामने झूठ नहीं बोलना चाहिए

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को काशी-विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन (Kashi Vishwanath Corridor Inauguration) किया। इसके बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Samajwadi party leader Akhilesh yadav) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि भाजपा को भगवान के सामने झूठ नहीं बोलना चाहिए। हमारे सामने झूठ बोलें तो कोई बात नहीं, लेकिन काशी में तो झूठ नहीं बोलना चाहिए।

इटावा पहुंचे अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भाजपा के विकास कार्य को लेकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने जिन कार्यों का उद्घाटन किया है, सभी जानते हैं कि वह कार्य किसके थे। इटावा में जेल समाजवादियों ने बनवाई, इसका उद्घाटन भाजपा ने किया।

उन्होंने कहा कि भाजपा की विकास की गति धीमी होने से इटावा में स्टेडियम, एकोटिक सेंटर बर्बाद हो गए हैं। यहां के क्रिकेट स्टेडियम में आईपीएल हो सकते थे, लेकिन भाजपा ने इटावा के साथ भेदभाव किया है। उन्होंने कहा कि किसान को खाद, बिजली की जरूरत है, लेकिन यूरिया, डीएपी के लिए लोगों को सिर्फ सरकार की ओऱ से लंबी लाइनें दी गई हैं।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने राशन डबल मिलने के मामले पर कहा कि गरीब को राशन मिले, यह अच्छी बात है लेकिन खाने में न्यूट्रीशन भी तो मिलना चाहिए। इस दौरान अखिलेश यादव ने डिप्टी सीएम के लाल टोपी और जालीदार टोपी वाले बयान पर कहा कि भाजपा ने एक को स्टूल पर बैठा दिया। एक को पैदल कर दिया। यह भाजपा की अंदरूनी लड़ाई है, बहुत सारे लोगों की भाषा बदल रही है।

अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार को कृषि कानून पहले ही वापस ले लेना चाहिए था। भाजपा ने उत्तर प्रदेश और पंजाब को लेकर यह फ़ैसला लिया है, क्योंकि इनके लिए वोट महत्वपूर्ण है। बता दें कि समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव अपने गांव सैफई पहुंचे थे।

भाजपा ने किया अखिलेश के बयान पर पलटवार

इटावा में अखिलेश यादव के वाराणसी वाले बयान पर भाजपा ने कड़ी आलोचना की है। उत्तर प्रदेश बीजेपी ने कहा कि अखिलेश यादव का यह बयान बेहद शर्मनाक है। आज जब विश्वनाथ धाम के संवर्धन का इतना विशिष्ट काम हुआ, तब प्रधानमंत्री के लिए मृत्यु की इच्छा जताना उनकी विकृत मानसिकता को दर्शाता है। इसके साथ ही भाजपा के कई नेताओं ने भी पलटवार करते हुए अखिलेश यादव के बयान की निंदा की है।

बैखला गाए हैं अखिलेश यादवः स्वतंत्र देव सिंह

अखिलेश यादव के बयान के बाद उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि काशी का ऐसा भव्य रूप देखकर अखिलेश यादव बौखला गए हैं। अगर कहीं जिन्ना की मूर्ति का लोकार्पण होता तो वह खुशी से झूम उठते और घर-घर मिठाई बाटते।

जिन्ना संस्कृति से प्रेरित हैं अखिलेशः सिद्धार्थ नाथ सिंह

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने अखिलेश यादव के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि वह काशी के पुनर्विकास और भारतीय संस्कृति के गौरव को पचा नहीं सकते। उन्होंने कहा कि साफ है कि अखिलेश भारतीय संस्कृति से नहीं, बल्कि जिन्ना संस्कृति से प्रेरित हैं। इसलिए ऐसी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।