Rhea Chakraborty ने दिखाया असली रंग, सुशांत को बताया ड्रग् स एडिक्ट, खुद को बताया ‘दूध का धुला’

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत (SSR Case) की मौत से जुड़े ड्रग् स मामले में गिरफ्तार अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) ने खुद को पाक साफ बताया है. बॉम्बे हाईकोर्ट में दाखिल जमानत याचिका में कहा रिया चक्रवर्ती ने खुद को निर्दोष बताते हुए, सुशांत पर पूरा ठीकरा फोड़ दिया है. रिया ने साथ ही कहा कि NCB जान-बूझ कर उन पर और उनके परिवार पर गंभीर आरोप लगा रही है.

रिया ने खुद को ‘दूध का धुला’ बाते हुए कहा कि वह ‘विच हंट’ का शिकार हुई हैं.

Rhea Chakraborty बोली मेरी सेहत पर पड़ रहा बुरा असर

बॉम्बे हाईकोर्ट में मंगलवार दायर जमानत याचिका में चक्रवर्ती ने कहा है कि वह सिर्फ 28 साल की हैं और NCB के जांच के अलावा, वह साथ ही साथ पुलिस और केंद्रीय एजेसियों की तीन जांच और ‘समानांतर मीडिया ट्रायल’ का सामना कर रही हैं.

Rhea Chakraborty ने कहा कि यह सब उनके मानसिक स्वास्थ्य और सेहत पर बुरा असर डाल रहा है. उन्होंने अपने वकील के माध्यम से दायर याचिका में कहा है कि हिरासत की अवधि बढ़ने से उनकी मानसिक स्थिति और भी बिगड़ जाएगी.

बता दें कि न्यायमूर्ति सारंग कोतवाल की एकल पीठ के समक्ष बुधवार को वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर सुनवाई होनी थी. लेकिन, मुंबई में भारी बारिश की वजह से बॉम्बे हाईकोर्ट ने बुधवार की कार्यवाही स्थगित कर दी और अब इन पर आज सुनवाई होने की संभावना है.

ड्र ग्‍स से नहीं कोई लेना-देना

रिया ने आगे अपनी याचिका में कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत ड्र ग्स एडिक्ट थे और खास तौर पर गांजा पीते थे. वह तबसे इसका सेवन कर रहे थे, जब वे दोनों रिलेशन में भी नहीं थे. Rhea Chakraborty कहा कि कभी-कभी वह उनके लिए ‘कम मात्रा में’ गांजा खरीदती थीं और कई बार उन्होंने इसकी पेमेंट भी की. रिया ने कहा कि वह खुद किसी भी गैं ग की सदस्य नहीं हैं. उन्होंने कहा कि सिर्फ सुशांत राजपूत ही इन चीजों का सेवन करते थे.

कोई गलती नहीं की

याचिका में कहा, ‘आवेदक (Rhea Chakraborty) निर्दोष हैं और उन्होंने कोई गलती नहीं की है.’ याचिका में कहा कि वह ‘विच-हंट’ का शिकार हुई हैं, क्योंकि सीबीआई और ईडी उनके खिलाफ सबूत जुटाने में असफल रहा और एनसीबी को उन्हें और उनके परिवार को फंसाने के लिए लाया गया.

चक्रवर्ती पर एनसीबी ने कई आरोपों के लिए मामला दर्ज किया है, इसमें ड्र ग्स की त स्क री के लिए पैसा देना भी शामिल है. NDPC Act की धारा 27-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है और यह धारा आरोपी को जमानत देने पर पर रोक लगाता है.

गलत फंसाया जा रहा

अभिनेत्री ने कहा कि उन्हें NDPC Act की धारा 27-ए के तहत गलत तरीके से फंसाया गया है. और जब उनके पास से कोई ड्र ग् स जब्त नहीं किया गया और एनसीबी सभी आरोपी के पास से सिर्फ 59 ग्राम ड्र ग् जब्त करने में सफल रही तो जमानत पर रोक लगाने का नियम उन पर लागू नहीं होता है.

ये भी पढ़ें : राफेल जेट उड़ाने वाली पहली महिला पायलट बनी शिवांगी सिंह, PM मोदी से है खास कनेक्शन

अभिनेत्री ने कहा कि उनकी जमानत पर तब रोक लगाई जाती जब कारोबारी मात्रा में उनके पास से ड्र ग् स जब्त होता. पिछले सप्ताह न्यायमूर्ति कोतवाल के सामने इसी तरह का तर्क सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत के वकीलों ने दिया था. ये सभी इस मामले में सह आरोपी हैं.