पीएमसी बैंक में है आपका अकाउंट, तो नहीं निकाल पाएंगे 1 लाख से ज्यादा की रकम, RBI ने लगाई पाबंदी

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ने बड़ा फैसला लेते हुए पिछले दिनों पीएमसी बैंक पर बड़ी कार्रवाई की थी। इसके साथ ही आरबीआई ने अब पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक के खाताधारकों को बड़ा झटका दिया है। बैंक के खाताधारक अभी भी अपने खाते से 1 लाख से ज्यादा रकम नहीं निकाल पाएंगे।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पीएमसी बैंक (PMC Bank) में विड्रॉल लिमिट को 1 लाख रुपए पर बरकरार रखा है।

खाते से नहीं निकाल पाएंगे 1 लाख रुपए

यदि आपका अकाउंट भी पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक में है तो अभी आप अपने खाते में रकम होते हुए भी 1 लाख रुपए से अधिक रकम नहीं निकाल पाएंगे। RBI ने इस बैंक के लिक्विडिटी संकट को देखते हुए कैश विडॉल की लिमिट बरकरार रखा है।

आरबीआई ने दिल्ली हाईकोर्ट में इसे लेकर कगा कि 26 मार्च 2020 तक डिपॉजिट लायबिलिटी करीब 10000 करोड़ थी, जबकि बैंक के पास लिक्विड एसेट 2955.73 करोड़ रुपए का है, जिसके कारण बैंक सभी जमाकर्ताओं की पूरी रकम विड्रॉल करने के लिए सक्षम नहीं है।

आपत स्थिति में ही निकाल सकेंगे 5 लाख रुपए

RBI ने पीएमसी बैंक के खाताधारकों को कुछ स्थितियों में 5 लाख रुपए तक निकालने की छूट दी है। जैसे की गंभीर बीमारी के इलाज के मामलों में या फिर कोविड 19 बीमारी की स्थिति में खाताधारक अपने बैंक अकाउंट से 5 लाख रुपए निकाल सकेंगे। 1 लाख रुपए की निकाली सीमा के तहत बैंक के करीब 84 फीसदी डिपॉजिटर्स अपनी पूरी रकम निकाल सकते हैं।

क्यों लगाई गई बैंक पर पाबंदी

दरअसल, पीएमसी बैंक स्कैम मामले के बाद RBI ने बैंक पर पाबंदी लगाई,जिसके तहत बैंक के कैश निकालने की सीमा भी तय कर दी गई, जिसे समय-समय पर RBI द्वारा बढ़ाया भी गया है। आरबीआई द्वारा डिपॉजिटर्स की रकम को सुरक्षित रखने के मकसद से बैंक ने विडॉल लिमिट पर कैपिंग की है। इईसके साथ-साथ इस कैश विडॉल सीमा से पीएमसी बैंक को अपने एसेट्स को दुरुस्त करने में और अनियमितता को ठीक करने में मदद मिलेगी।