राहुल गांधी बोले- पीएम मोदी के गलत फैसलों के आगे झुकते हैं हिंदुत्व को मानने वाले लोग

नई दिल्ली: कांग्रेस (Congress News) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से आयोजित तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के समापन सत्र को डिजिटल माध्यम से संबोधित किया। इस दौरान हिंदुत्व के मुद्दे पर उनके निशाने पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) रहा।

उन्होंने (Rahul Gandhi) अपनी पार्टी के बारे में कहा है कि कांग्रेस की लक्ष्मण रेखा सत्य है, जबकि बीजेपी की लक्ष्मण रेखा सत्ता है। जिन लोगों ने नरेंद्र मोदी के गलत निर्णयों के सामने सिर झुका दिया वो हिन्दुत्व है।

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि कांग्रेस शासन में पड़ोसी देश चीन ने देश की हजार किलोमीटर जमीन पर अतिक्रमण नहीं किया, यदि कांग्रेस शासन में ऐसा होता तो हमारे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह बिना डर के सच्चाई स्वीकार करते हुए अपनी जिम्मेदारी के निर्वहन में असफल रहने पर इस्तीफा सौंप देते, लेकिन बीजेपी वाले सच को छिपाने में लगे हैं।

उन्होंने (Rahul Gandhi) कहा, ‘हिंदुत्व की विचारधारा मानने वाले किसी के भी सामने सिर झुका देते है, इन लोगों ने अंग्रेजों के समक्ष सिर झुकाया और पैसों के आगे झुक जाते है क्योंकि इनके दिलों में सच्चाई नहीं है।’

इसके साथ ही राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि आरएसएस के लोग अपने दिल में बसी हुई नफरत व डर को पूरे देश में फैला रहे हैं जिस कारण देश को चौतरफा नुकसान हो रहा है और इसी का मुकाबला कांग्रेस को करना है।

राहुल ने कहा, ‘नेहरू के इस वक्तव्य में कहीं भी नफरत एवं बदले की भावना नहीं थी…जबकि सावरकर ने अपनी पुस्तक में उल्लेख किया है कि उन्हें सर्वाधिक खुशी उस वक्त हुई जब उनके पांच साथियों ने मिलकर एक मुसलमान युवक की लाठियों से पिटाई की। यह एकतरफा लड़ाई थी क्योंकि पांच लोगों ने मिलकर एक व्यक्ति के साथ मारपीट की। एक विचारधारा हिन्दू है जिसमें डर और नफरत को दिल से निकाल देने के लिए कहा गया है, यही जवाहर लाल नेहरू ने अनेक वर्षों तक जेल में रहने के पश्चात् रिहाई होने पर धन्यवाद देकर कहा उनके दिल में नफरत नहीं थी। दूसरी ओर व्यक्ति डर का सामना नहीं कर सकता अकेले अपनी लड़ाई नहीं लड़ सकता, लोगों के साथ मिलकर हमले करते हैं क्योंकि वे कायर थे। महात्मा गांधी व नेहरू को कोई कायर नहीं कह सकता क्योंकि उनके दिल में ना तो डर था और ना ही कोई नफरत।’

जो लोग समस्या का सामना खड़े होकर करते हैं वो हिन्दू हैं: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘नफरत डरपोक लोगों के दिल में बसती है, कायर लोग जो दुश्मन के सामने खड़े नहीं हो सकते उनके दिल में नफरत बसती है, यही आरएसएस की विचारधारा है। जो लोग समस्या का सामना खड़े होकर करते हैं वो हिन्दू हैं और जो समस्या के सामने डर से सिर झुका देते हैं उनकी विचारधारा हिन्दुत्व है।

राहुल ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तानाशाही निर्णयों का सामना डटकर राहुल गांधी ने किया है, यह विचारधारा हिन्दू है। हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई सहित सभी धर्म सत्य को प्राप्त करने के मार्ग हैं। हमारे लिए धर्म सच्चाई प्राप्त करने का रास्ता है किन्तु हिन्दुत्व का धर्म अपने धर्म को सत्ता प्राप्ति का साधन बनाना मात्र है। जिन लोगों ने नरेंद्र मोदी के गलत निर्णयों के सामने सिर झुका दिया वो हिन्दुत्व हैं।’

देश के जो हालात हैं उनमें समाज में नफरत फैलाई जा रही हैः राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा, ‘हिंदुत्व की विचारधारा मानने वाले किसी के भी सामने सिर झुका देते है, इन लोगों ने अंग्रेजों के समक्ष सिर झुकाया और पैसों के आगे झुक जाते है क्योंकि इनके दिलों में सच्चाई नहीं है। बीजेपी की लक्ष्मण रेखा सत्ता है और सत्ता के लिए वह अपनी विचारधारा की लक्ष्मण रेखा को हमेशा बदलती रही है जबकि कांग्रेस की लक्ष्मण रेखा सत्य है तथा जहां सत्य है, वहीं हम कांग्रेसी खड़े है।’

‘एक बार कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में उन्होंने पूछा कि क्या कोई ऐसा व्यक्ति मौजूद है जो घर छोडक़र भागा हो, किसी ने हां में जवाब नहीं दिया किंतु यही सवाल आरएसएस की सभा में पूछा जाए तो प्रत्येक व्यक्ति का उत्तर हां में होगा। भागता वही है जो जिम्मेदारी नहीं निभा सकता और जिसके दिल में प्रेम नहीं है। यह लोग घर के बाहर भी नफरत फैलाते हैं। जिनके दिल में सिर्फ नफरत है उनसे देश भक्ति व देश प्रेम की उम्मीद करना बेकार है। आज देश के जो हालात हैं उनमें समाज में नफरत फैलाई जा रही है।’