राहुल गांधी बोले-2014 से पहले नहीं था ‘लिंचिंग’ शब्द, बीजेपी ने बताया बिगड़ैल बच्चा

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पंजाब और देश के कुछ अन्य हिस्सों में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर कथित तौर पर मार डालने की हालिया घटनाओं की पृष्ठभूमि का हवाला देते हुए आरोप लगाया है कि साल 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार बनने से पहले ‘लिंचिंग’ शब्द सुनने में नहीं आता था।

उन्होंने ‘थैंक्यू मोदी जी’ हैशटैग के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘2014 से पहले ‘लिंचिंग’ शब्द सुनने में भी नहीं आता था।’

गौरतलब है कि गत रविवार को पंजाब के कपूरथला के निजामपुर गांव में एक गुरुद्वारा में सिख धर्म के ‘निशान साहिब’ (ध्वज) का अनादर करने के आरोप में एक अज्ञात व्यक्ति को भीड़ ने पीट-पीटकर कथित तौर पर मार डाला। इससे पहले अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में शनिवार को कथित बेअदबी को लेकर भीड़ ने एक अन्य व्यक्ति की पीट-पीट कर कथित तौर पर जान ले ली थी।

ये भी पढ़ें : नरेंद्र मोदी पर राहुल गांधी ने ऐसे किया वार- योगी को हटा दिया, राजनाथ सिंह को बाहर फेंक दिया

बीजेपी का Rahul Gandhi को जवाब

इसके बाद बीजेपी ने जवाब दिया है। बीजेपी नेता अमित मालवीय ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) समेत पूरी कांग्रेस पार्टी को 1984 में हुए दंगों की याद दिलाते हुए निशाना साधा है।

वहीं बीजेपी के आईटी सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को ‘बिगड़ैल बच्चा’ करार दिया था। दरअसल राहुल गांधी और एक पत्रकार के सवाल-जवाब की क्लिप पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘राहुल गांधी, बिगड़ैल बच्चा, संसद को बाधित करने वाले विपक्ष के बारे में सवाल पूछे जाने पर पत्रकार को चुप करा देते हैं।’

इस वीडियो पर अमित मालवीय ने यह भी लिखा कि सरकार ने विपक्षी दलों से चर्चा के लिए आने को कहा, लेकिन कांग्रेस सहित अन्य दल नहीं आए। कांग्रेस और राहुल गांधी चर्चा में करने में अक्षम हैं, इसलिए कार्यवाही बाधित करते हैं।