सुरक्षा में चूक के बाद बठिंडा एयरपोर्ट लौटे PM मोदी ने कहा, ‘मैं जिंदा लौटा, CM को थैंक्स कहना’

नई दिल्ली: PM Modi Rally Cancelled: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को पंजाब के फिरोजपुर (PM Modi in Ferozpur) में बुधवार, 5 जनवरी को रैली करनी थी। लेकिन रैली आखिरी क्षणों में रद्द कर दी गई।

पहले रैली रद्द (PM Modi Rally Cancelled) होने के पीछे खराब मौसम को वजह माना जा रहा था, लेकिन अब इसके पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दिया गया है। पीएम की सुरक्षा चूक (PM Modi Security Breach) को लेकर गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से जवाब मांगा है। इस बीच सूत्रों के हवाले से पीएम नरेंद्र मोदी का एक बयान तेजी से वायरल हो रहा है। वो भी बताएंगे, पहले जानिए आखिर फिरोजपुर में हुआ क्या।

गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि आज सुबह पीएम मोदी बठिंडा पहुंचे। वहां से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था। बारिश और खराब विजिबिलिटी के चलते पीएम ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया। जब मौसम में सुधार नहीं हुआ, तो यह तय किया गया कि वह सड़क मार्ग से जाएंगे। इसमें 2 घंटे से अधिक समय लगने वाला था। डीजीपी पंजाब पुलिस द्वारा सुरक्षा प्रबंधों की आवश्यक पुष्टि के बाद पीएम मोदी का काफिला सड़क मार्ग से आगे बढ़ा।

बयान में आगे कहा गया है, हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से लगभग 30 किलोमीटर दूर जब पीएम का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा, तो पाया गया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को ब्लॉक कर दिया था। पीएम 15-20 मिनट फ्लाईओवर पर फंसे रहे। यह पीएम की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी।

गृह मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा की योजना के बारे में पंजाब सरकार को पहले ही बता दिया गया था। प्रक्रिया के अनुसार उन्हें सही तैयारी और सुरक्षा के इंतजाम करने थे। आकस्मिक प्लान को ध्यान में रखकर पंजाब सरकार को सड़क मार्ग पर भी अतिरिक्त पुलिस लगानी थी जो कि नहीं किया गया।

सुरक्षा में हुई इस चूक के बाद काफिले को वापस बठिंडा एयरपोर्ट की तरफ मोड़ लिया गया। गृह मंत्रालय ने सुरक्षा में इस गंभीर चूक का संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। राज्य सरकार को भी इस चूक की जिम्मेदारी तय करने और सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है।

वहीं समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक अधिकारियों ने उसे बताया कि जब पीएम मोदी बठिंडा एयरपोर्ट पहुंच गए तो उन्होंने वहां के अधिकारियों से कहा, अपने सीएम को थैंक्स कहना, कि मैं बठिंडा एयरपोर्ट तक जिंदा लौट पाया।

जेपी नड्डा ने लगाया आरोप

पीएम मोदी की रैली रद्द होने पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए। लिखा, हार के डर से पंजाब की कांग्रेस सरकार ने पीएम को रैली न करने देने के लिए हर संभव हथकंडा आजमाया। ऐसा करते समय उन्होंने इस बात की भी परवाह नहीं की कि पीएम को भगत सिंह और अन्य शहीदों को श्रद्धांजलि देनी है। प्रमुख विकास कार्यों की आधारशिला रखनी है। अपनी घटिया हरकतों से पंजाब में कांग्रेस सरकार ने दिखा दिया है कि वे विकास विरोधी हैं। स्वतंत्रता सेनानियों के लिए भी उनके मन में कोई सम्मान नहीं है।

नड्डा ने कहा कि यह बेहद चिंताजनक बात है। यह घटना पीएम की सुरक्षा में भी एक बड़ी चूक थी। प्रदर्शनकारियों को प्रधानमंत्री के रास्ते में जाने दिया गया, जबकि पंजाब के सीएस और डीजीपी ने एसपीजी को आश्वासन दिया कि रास्ता साफ है। मामले को बदतर बनाने के लिए, सीएम चन्नी ने फोन पर बात करने या इसे हल करने से इनकार कर दिया।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आगे कहा, पंजाब में कांग्रेस सरकार द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली रणनीति लोकतांत्रिक सिद्धांतों में विश्वास रखने वाले किसी भी व्यक्ति को पीड़ा देगी। लोगों को रैली में शामिल होने से रोकने के लिए राज्य पुलिस को निर्देश दिया गया था। पुलिस की सख्ती और प्रदर्शनकारियों की मिलीभगत के कारण बड़ी संख्या में बसें फंसी हुई थीं। यह दुखद है कि पंजाब के लिए हजारों करोड़ की विकास परियोजनाओं को शुरू करने के लिए पीएम का दौरा बाधित हो गया, लेकिन हम ऐसी घटिया मानसिकता को पंजाब की तरक्की में बाधक नहीं बनने देंगे और पंजाब के विकास के लिए प्रयास जारी रखेंगे।

वहीं सरकारी सूत्रों का कहना है कि हाल के वर्षों में किसी भी भारतीय पीएम की सुरक्षा में यह सबसे बड़ी चूक है। उनके मुताबिक पीएम के रूट के बारे में सिर्फ पंजाब पुलिस को पता था, ऐसे में फ्लाईओवर पर जो देखा गया वह पंजाब पुलिस और तथाकथित प्रदर्शनकारियों के बीच मिलीभगत का एक आश्चर्यजनक दृश्य था। पुलिस का ऐसा व्यवहार पहले कभी नहीं देखा गया।