छपरा रैली में PM मोदी का तेजस्‍वी-राहुल पर वार, बोले- बिहार में डबल-डबल युवराज

0
191
New Delhi: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election) के लिए छपरा में रैली (Chhapra Rally) करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के निशाने पर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) रहे। उन्‍होंने दोनों को ‘डबल-डबल युवराज’ की संज्ञा दी।

मोदी (PM Narendra Modi) ने 2017 में उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठजोड़ का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार में भी इन युवराजों का वही हाल होगा। पीएम के मुताबिक, ‘यूपी की जनता ने उस युवराज (राहुल) को घर भेज दिया था तो उन्‍होंने अब जंगलराज वाले युवराज (तेजस्‍वी) से हाथ मिला लिया है। मोदी ने कहा कि ‘डबल युवराज अपने सिंहासन को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं।’

‘जंगलराज के युवराज को जनता घर भेज देगी’

पीएम (PM Narendra Modi) ने रैली में कहा, “आज बिहार में एक तरफ डबल इंजन की सरकार है तो दूसरी तरफ डबल युवराज हैं। डबल इंजन वाली एनडीए सरकार विकास के लिए प्रतिबद्ध है तो ये डबल युवराज अपने सिंहासन को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। आपने देखा होगा जब तीन-चार साल पहले यूपी में युवराज बस पर चढ़कर काली जैकेट पहनकर हाथ हिला रहे थे।’

पीएम (PM Narendra Modi) ने कहा, ‘यूपी की जनता ने उस युवराज को घर भेज दिया था तो उन्होंने जंगलराज वोल युवराज से हाथ मिला लिया है। अब वो दोनों यहां हाथ हिला रहे हैं। जो यूपी में डबल डबल युवराज का हुआ वही हाल बिहार में डबल डबल युवराज का होगा। स्पेशली जंगलराज के युवराज का होगा। ये डबल डबल युवराज बिहार के लिए नहीं सोच सकते है। एनडीए सरकार चाहे केंद्र में हो या बिहार में जितनी बडी चुनौती रही है उतने बड़े प्रयास हुए हैं। बात चाहे जीवन बचाने की हो एनडीए सरकार एक-एक नागरिक के साथ खड़ी रही है।’

‘मुझे गा’ली दीजिए, बिहार के लोगों पर गुस्‍सा नहीं’

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election) में प्रचार के लिए छपरा पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि पहले चरण की वोटिंग के बाद साफ नजर आ रहा है कि नीतीश कुमार की अगुवाई में एनडीए की सरकार बनने जा रही है। बीजेपी के लिए और एनडीए के लिए आपका ये प्रेम अच्छा नहीं लग रहा है। उनको रात में नींद नहीं आ रही है।

मोदी ने कहा कि कभी कभी तो अपने कार्यकर्ताओं को ही पकड़कर फेंक रहे हैं। उनकी हताशा, निराशा और गुस्सा बिहार की जनता देख रही है। चेहरे पर से हंसी गायब हो गई है। अभी इतने बौखला गए हैं कि उन्होंने अब मोदी को भी गाली देना शुरू कर दिया है। ठीक है मुझे गाली दे दीजिए, जो मन आए बोलिए लेकिन अपना गुस्सा बिहार के लोगों पर मत उतारिए।

‘ये लोग परिवार के लिए जीते हैं’

बिहार के लोगों को उनकी भावनाओं को ये लोग कभी समझ नहीं सकते। ये लोग अपने परिवार के लिए पैदा हुए हैं, अपने परिवार के लिए जी रहे हैं और अपने परिवार के लिए ही जूझ रहे हैं। ना उनको बिहार से लेना देना है, ना बिहार की युवा पीढ़ी के सपनों से लेनादेना है। जिसकी नजर हमेशा गरीब के पैसों पर हो, उसे कभी गरीब का दुख उनकी तकलीफ कभी दिखाई नहीं देगी। वहीं बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए का गठबंधन बिहार के गरीब के जीवन से मुश्किलें कम कर रहा है।

गरीब मां ने बताया क्यों मोदी को वोट देना है

दो तीन दिन पहले मैं बिहार का एक वीडियो देख रहा था। यह वीडियो बिहार के किसी गांव की एक बुजुर्ग महिला का है। इस वीडियो में एक व्यक्ति महिला से पूछता है- ‘मोदी के काहे वोट दोगी, मोदी ने क्या दिया है।’ उस गरीब मां ने एक सांस में जवाब दे दिया। जब वो मां बोल रही थी उसका चेहरा देखने लायक था। मां ने उसकी बोलती बंद कर दी। महिला ने कहा- मोदी ने हमको नल दिया, बिजली दिया, राशन दिया, गैस दिया। उनको वोट नहीं देंगे तो किसकों देंगे।

‘मां कहती बाहर लकड़सुंघवा घूम रहा है’

पीएम ने कहा कि पहले बिहार में हर मां कहती थी घर के भीतर ही रो, बाहर लकड़सुंघवा घूम रहा है। ये लकड़सुंघवा कौन था। उन्हें ड’र था अपर’हरण करने वालों से, किड’नैपिंग करने वालों से। जिस राज्य में बच्चों का घर से निकलना भी मुश्किल हो, उस राज्य को चलाने वालों से बिहार क्या उम्मीद कर सकता है। जिस राज्य में ये हाल रहा हो, वहां नए उद्योग लगाने की तो छोडिए, वहां मिले बंद ही होंगी। बिहार के फर्स्ट टाइम वोटर को ये बातें याद रखनी है। क्योंकि यहां के कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए काफी प्रयास किया है।

अप’रा’धियों को जैसे ही लालटेन का अंधेरा दिखेगा उनका हौसला बुलंद हो जाएगा। ये अंधेरे के इंतजार में हैं। साथियों रघुवंश बाबू जिन्होंने सोशलिस्ट मूल्यों को आगे बढाया, अपना पूरा जीवन बिहार में लगाया उन्हें कैसे अपमानित किया ये बिहार का बच्चा बच्चा जानता है। जो अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए रघुवंश जी के साथ ऐसा बर्ताव कर सकते हैं वे युवाओं के साथ कैसा व्यवहार करेंगे।