पीएम मोदी ने पीयूष जैन के बहाने अखिलेश पर किया हमला- भ्रष्टाचार का इत्र छिड़क रखा था, आज सामने आ गया

नई दिल्ली: PM Modi in Kanpur: कानपुर मेट्रो के उद्घाटन के मौके पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने जमकर विपक्ष पर निशाना साधा। यूपी चुनाव (UP Chunav) तारीखों की घोषणा भले ही अभी नहीं हुई हो, लेकिन चुनावी बिसात बिछ चुकी है।

राजनीतिक हमले खूब हो रहे हैं। हर राजनीतिक दल चुनावी मैदान में बढ़त बनाने को लेकर अपनी रणनीति को मजबूत बना रहा है। इस क्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) में भाजपा (BJP) की सबसे बड़ी प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी को निशाने पर लिया।

मशहूर इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर स्थित आवास और कन्नौज स्थित इत्र की फैक्ट्री पर 22 दिसंबर से 27 दिसंबर के बीच छापेमारी चली। सीबीआईसी ने यहां से छापेमारी के इतिहास की सबसे बड़ी रिकवरी यहां से की है। करीब 200 करोड़ रुपये नकद यहां से बरामद किए गए हैं।

इसके अलावा सोना और चंदन के तेल की बरामदगी के बाद मामला गरमाया हुआ है। अब इस मामले पर पीएम नरेंद्र मोदी ने भी करारा हमला बोला है। पीयूष जैन के बहाने उन्होंने सीधे समाजवादी पार्टी अध्यक्ष को निशाने पर लिया। पीएम मोदी ने पीयूष जैन पर छापेमारी में हुई बरामदगी को ‘भ्रष्टाचार का इत्र’ नाम दे दिया।

सामने आया भ्रष्टाचार का इत्र

पीएम नरेंद्र मोदी ने कानपुर मेट्रो का उद्घाटन करने के बाद कहा कि भ्रष्टाचार का इत्र जो छिड़क रखा था, आज सामने आ गया है। पीयूष जैन का समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से कनेक्शन रहा है। पिछले दिनों पीयूष जैन ने समाजवादी इत्र लॉन्च किया था। उस समय दावा किया गया था कि यह इत्र भाजपा के खिलाफ अभियान को एक नई ऊंचाई देगा। अब उसी इत्र को पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार का इत्र साबित कर दिया है। इसके जरिए उनका निशाना सीधे तौर पर अखिलेश यादव पर रहा।

पूर्व की सरकारों पर भी साधा निशाना

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस कार्यक्रम में पूर्व की सरकारों पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पहले जिन लोगों ने सरकार चलाई, उन्होंने कभी समय की अहमियत नहीं समझी। 21वीं सदी की शुरुआत में उत्तर प्रदेश को तेज गति से प्रगति करनी थी। उस अमूल्य समय और अहम अवसर को पहले की सरकारों ने गंवा दिया। यूपी और केंद्र की भाजपा सरकार को डबल इंजन की सरकार बताते हुए उन्होंने कहा कि हम डबल स्पीड से काम कर रहे हैं। बीते समय में प्रदेश का जो नुकसान हुआ है, डबल इंजन की सरकार उसकी भरपाई करने में जुटी है।

प्रदेश में बन रहा सबसे बड़ा एयरपोर्ट

यूपी में विकास योजनाओं का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट जेवर एयरपोर्ट का निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण यहां हो रहा है। पहला क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम यूपी में विकसित हो रहा है। यूपी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का हब बनने की दिशा में अग्रसर है।

डिफेंस कॉरिडोर का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जिस यूपी को कभी अवैध हथियारों वाली गैंग के लिए बदनाम किया गया था, वहीं देश की सुरक्षा के लिए डिफेंस कॉरिडोर का निर्माण हो रहा है। यूपी के लोग इसीलिए कह रहे हैं, फर्क साफ है।

चरम पर हैं चुनावी तैयारियां

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Election 2022) की तैयारी शुरू हो चुकी है। 403 सीटों वाली 18वीं विधानसभा के लिए ये चुनाव फरवरी से अप्रैल के बीच हो सकते हैं। 17वीं विधानसभा का कार्यकाल (UP Assembly) 15 मई तक है.

17वीं विधानसभा के लिए 403 सीटों पर चुनाव 11 फरवरी से 8 मार्च 2017 तक 7 चरणों में हुए थे। इनमें लगभग 61 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इनमें 63 प्रतिशत से ज्यादा महिलाएं थीं, जबकि पुरुषों का प्रतिशत करीब 60 फीसदी रहा।

चुनाव में बीजेपी ने 312 सीटें जीतकर पहली बार यूपी विधानसभा (Uttar Pradesh Vidhansabha) में तीन चौथाई बहुमत हासिल किया। वहीं अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की अगुवाई में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और कांग्रेस (Congress) गठबंधन 54 सीटें जीत सका।

इसके अलावा प्रदेश में कई बार मुख्यमंत्री रह चुकीं मायावती (Mayawati) की बीएसपी (Bahujan Samaj Party) 19 सीटों पर सिमट गई। इस बार सीधा मुकाबला समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और भाजपा (Bhartiya Janata Party) के बीच है। भाजपा योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के चेहरे को आगे कर चुनाव लड़ रही है।