UP: 12 जिलों को कनेक्टिविटी, 594 KM लंबाई, शाहजहांपुर में आज गंगा एक्सप्रेस वे का शिलान्यास करेंगे PM मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) आज उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर दौरे पर है। यहां वे दोपहर करीब एक बजे शाहजहांपुर में गंगा एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखेंगे। गंगा एक्सप्रेसवे को उत्तरप्रदेश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे बताया जा रहा है। इसकी लंबाई 594 किलोमीटर होगी।

गंगा एक्सप्रेस वे मेरठ से प्रयागराज तक यूपी के 12 जिलों से होकर गुजरेगा। लिहाजा एक्सप्रेस-वे यूपी के पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्र को आपस में जोड़ेगा। यह एक्सप्रेसवे मेरठ-बुलन्दशहर मार्ग (NH-334) पर मेरठ के बिजौली ग्राम से शुरू होकर प्रयागराज बाइपास (NH-19) पर जुडापुर दांदू ग्राम के पास समाप्त होगा। इसके निर्माण में 36,200 करोड़ रुपये से अधिक की लागत आएगी। एक्सप्रेसवे पर वायु सेना के विमानों के आपातकालीन टेक-ऑफ और लैंडिंग में सहायता के लिए 3।5 किमी की हवाई पट्टी भी होगी।

इन 12 जिलों से गुजरेगा एक्सप्रेसवे

यह एक्सप्रेसवे 12 जनपद मेरठ, हापुड़, बुलन्दशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ और प्रयागराज से होकर गुजरेगा। यह एक्सप्रेसवे 6 लेन का होगा जिसे बाद में बढ़कर 8 लेन तक किया जा सकेगा। इस एक्सप्रेसवे के लिए अब तक लगभग 94 फीसदी जमीन अधिग्रहित की जा चुकी है।

इस एक्सप्रेसवे परियोजना में लगभग 140 नदी/धारा/नहर/नाला, शामिल हैं। इसके अलावा इस एक्सप्रेसवे पर 07 ओवरब्रिज, 14 बड़े पुल, 126 छोट पुल, 28 फ्लाईओवर और 946 पुलियों का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है।

इस एक्सप्रेसवे के निर्माण से रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। अनुमान के मुताबिक इस एक्सप्रेसवे परियोजना के निर्माण के दौरान लगभग 12 हजार व्यक्तियों को अस्थायी रूप से नियोजित किया जाएगा जबकि टोल प्लाजा के निर्माण से लगभग 100 व्यक्तियों को स्थायी नौकरी मिलेगी।

एक नजर में गंगा एक्सप्रेसवे

  • उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे है गंगा एक्सप्रेसवे
  • मेरठ से प्रयागराज तक 594 किलोमीटर है इसकी लंबाई
  • एक्सप्रेसवे के बेहतर नेटवर्क और इंटरकनेक्टिविटी से उत्तर प्रदेश का हर छोर प्रदेश और देश की राजधानी से जुड़ेगा
  • सिक्स लेन के इस एक्सप्रेसवे की अनुमानित लागत 36230 करोड़ रुपये
  • गंगा एक्सप्रेसवे में सात रेलवे ओवरब्रिज, 14 बड़े पुल, 126 छोटे पुल, 375 अंडरपास, 9 जन सुविधा कांप्लेक्स, दो टोल प्लाजा और 15 रैंप टोल प्लाजा का होगा निर्माण
  • एक्सप्रेस वे पर 17 स्थानों पर इंटरचेंज की मिलेगी सुविधा
  • शाहजहांपुर में साढ़े तीन किलोमीटर लंबी हवाई पट्टी का भी होगा निर्माण
  • एक्सप्रेसवे के किनारे 18 लाख 55 हजार पेड़ लगाए जाएंगे
  • रुहेलखंड और विंध्य इलाके के कम विकसित क्षेत्रों में कृषि, वाणिज्य, पर्यटन और उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा
  • उत्पादन इकाइयों, विकास केंद्रों और कृषि उत्पादन केंद्रों क्षेत्रों को राष्ट्रीय राजधानी से जोड़ने के लिए औद्योगिक कॉरिडोर के रूप में मददगार होगा
  • शिक्षण, प्रशिक्षण और मेडिकल संस्थान की स्थापना के लिए अवसर सुलभ होंगे
  • खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों, भंडारण, कृषि मंडी तथा दूध आधारित उद्योगों की स्थापना में एक्सप्रेसवे महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा

21, 23 और 28 दिसंबर को भी यूपी के दौरे पर रहेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी आज से 28 दिसंबर के बीच उत्तरप्रदेश के दौरे पर रहेंगे। 21 दिसंबर को पीएम मोदी प्रयागराज जाएंगे। प्रयागराज में प्रधानमंत्री मोदी एक कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। इसमें करीब 2 लाख महिला कर्मचारियों के शामिल होने का दावा किया जा रहा है। जबकि 23 दिसंबर को पीएम अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा करेंगे। इसके बाद 28 दिसंबर को वह कानपुर जाएंगे, जहां वे कानपुर में मेट्रो का लोकार्पण करेंगे।

शिलान्यास से पहले गंगा एक्सप्रेसवे पर राजनीति भी शुरू

शिलान्यास से पहले गंगा एक्सप्रेसवे पर राजनीति भी शुरू हो गई है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना बसपा प्रमुख और उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम मायावती द्वारा शुरू की गई थी। उन्होंने कहा कि गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना की शुरुआत पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने की थी। बीजेपी मायावती द्वारा शुरू किए गए प्रोजेक्ट का शिलान्यास कर रहे हैं।