राजमिस्त्री से बोले PM मोदी, गांव में मजदूर कम पड़ जाएंगे, इतना काम देना है मुझे

0
171
PM-Modi-Rajmistari
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की. इस कार्यक्रम के दौरान उन्होंने घर लौटे प्रवासी मजदूरों से बात की. पीएम मोदी ने श्रमिकों से उन्हें मिले योजनाओं के लाभ के संबंध में भी जानकारी ली.

इस दौरान दूसरे शहरों में मेहनत-मजदूरी कर परिवार का पालन-पोषण करने वाले श्रमिकों ने भी प्रधानमंत्री से अपने हुनर को लेकर खुलकर बात की.

राजमिस्त्री को दिया आश्वासन

एक श्रमिक ने पीएम मोदी को यह बताया कि वह बाहर रहकर राजमिस्त्री का कार्य करता था. काम मिलना बंद हो गया तो वह गांव लौट आया. पीएम मोदी ने उस श्रमिक से यह पूछा कि गांव लौटने के बाद उसे काम मिल रहा है या नहीं. इस पर श्रमिक ने बताया कि मुखिया के माध्यम से कुछ काम शुरू हुए हैं, जिनमें उसे फिलहाल काम मिला है.

ये भी पढ़ें : सीमा पार पाकिस्तान से आ रहा था ह;थि’यारों से लैस ड्रोन, BSF जवानों ने मिट्टी में मिलाया

इसपर पीएम मोदी ने श्रमिक से हंसते हुए कहा कि चिंता मत कीजिए, गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत हम गांव में ही इतना काम शुरू कराएंगे कि मजदूर कम पड़ जाएंगे.

कई श्रमिकों से की बात

पीएम मोदी ने कई अन्य श्रमिकों से भी बात की और कल्याणकारी योजनाओं के जरिए उन्हें मिले फायदे के बारे में जानकारी ली. पीएम ने दिव्यांगता के बावजूद लोगों के लिए रोजगार की आस बनीं रोजगार दीदी से भी बात की और उनका मनोबल बढ़ाया.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की है. पीएम मोदी ने बटन दबाकर इस अभियान की शुरुआत करने के बाद बिहार के खगड़िया जिले की तेलीहार ग्राम पंचायत में होने वाले विकास कार्यों की भी शुरुआत की. 50000 करोड़ रुपये के बजट से शुरू किया गया यह अभियान 6 राज्यों के 116 जिलों में लागू होगा.