चीन की एक और चालबाजी, Pangong Tso Lake में अंडरवॉटर गतिविधियों पर भी रख रहा है नजर

Pangong Tso Lake update. एक तरफ चीन बातचीत के रास्ते सीमा विवाद को हल करने का दिखावा कर रहा है, वहीं दूसरी तरफ अपनी नापाक हरकतों से बाज बनी आ रहा है. चीन सिर्फ जमीन आसमान में ही नहीं अब पैंगोंग झील (Pangong Tso Lake) इलाके में अंडरवॉटर गतिविधियों पर भी नजर रख रहा है. चीनी सेना ग्राउंड फोर्स (PLAGF) हाइस्पीड पेट्रोलिंग क्राफ्ट के जरिए पानी पर नज़र गडाए हुए है, जिनमें Type 305, Type 928D बोट का इस्तेमाल किया जा रहा है.

हाल ही में सामने आई सैटेलाइट तस्वीरों से पता चला है कि चीन Pangong Tso Lake के आसपास अंडरवॉटर गतिविधियों पर भी नजर रख रहा है.

चीन ने लगाई उच्च तकनीक

चीन एंटी सबमरीन वॉरफेयर के लिए काम में लाई जाने वाली तकनीक का इस्तेमाल पैंगोंग झील (Pangong Tso Lake) इलाके में कर रहा है. दरअसल भारत के रुख को देखते हुए चीन समझ चुका है कि भारतीय सेना उसे मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है.

चीन पैंगोंग त्सो (Pangong Tso Lake) में अंडरवॉटर एक्टिविटी पर नजर बनाए हुए है. इस काम के लिए चीन ने नई तकनीक के एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल किया है. जानकारी के मुताबिक चीन मैग्नेटिक अनॉमेली डिटेक्टर (MAD boom) का इस्तेमाल किया है.

ये भी पढ़ें: हर दिन 1000 लोगों को खाना खिलाते हैं दिल्ली के परवीन कुमार गोयल, वो भी सिर्फ 1 रुपये में

इनमें Y-8 GX6 Shanxi Y-8 transporter’s Gaoxin-6 या High New 6 variant जैसे एयरक्राफ्ट शामिल हैं, जिनका इस्तेमाल चीनी नेवी के द्वारा एंटी सरफेस के साथ पनडुब्बी यु द्ध के लिए किया जाता है. इनकी खासियत यह है कि ये उपकरण पानी के अंदर छुपी पनडुब्बियों का पता लगा सकते हैं, लेकिन इससे इतर ये पानी में मौजूद खनिज मिट्टी की पहचान करने में भी माहिर हैं.