नवजोत सिंह सिद्धू की फिसली जुबान, प्रेस कांफ्रेंस के बीच कहने लगे अपशब्द

नई दिल्ली: पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर से विवादों में आ गए हैं। दरअसल, शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सिद्धू की जुबान फिसल गई। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष ने अपशब्द का इस्तेमाल किया।

समाचार एजेंसी एएनआई ने इस कांफ्रेस का एक वीडियो शेयर किया है। इसमें सिद्धू राज्य में साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों की बात कर रहे हैं। सिद्धू ने आज उम्मीदवारों के चयन के लिए एप्लिकेशन फॉर्म जारी किए हैं।

वीडियो में नजर आ रहा है कि सिद्धू चंडीगढ़ में एक कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकारों से बात कर रहे हैं। इसी बीच उनसे लेबर कार्ड के वितरण को लेकर एक पत्रकार सवाल करता है। रिपोर्टर्स की तरफ से पूछे गए इस सवाल के जवाब में सिद्धू अचानक अपशब्द का इस्तेमाल कर देते हैं। साथ ही वे अपनी प्रदेश सरकार की योजना के बारे में बात कर रहे हैं।

गौरतलब है कि सिद्धू को इसी हफ्ते पंजाब चुनाव समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। उन्होंने बताया कि पार्टी ने उम्मीदवारों से एप्लिकेशन फीस नहीं लेने का फैसला किया है। सोशल मीडिया साइट Koo पर एक पोस्ट के जरिए सिद्धू ने बताया कि 20 दिसंबर तक कांग्रेस उम्मीदवारों के चुनाव के लिए एप्लिकेशन फॉर्म्स स्वीकार किए जाएंगे… यह ऐतिहासिक है कि पहली बार आवेदकों से एप्लिकेशन फीस नहीं ली जाएगी।

इससे पहले गुरुवार को प्रदेश चुनाव समिति की बैठक के बाद सिद्धू ने कहा था कि शुक्रवार से स्क्रीनिंग कमेटी की बैठकें शुरू होंगी, जिसमें उम्मीदवारों को मेरिट के आधार पर टिकट दिया जाएगा। सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस सेक्युलर पार्टी है, जिसमें चर्चा और बहस उचित तरीके से होती है। मेरिट को देखते हुए टिकट देने का फैसला किया गया है। जीतने वाले उम्मीदवारों को टिकट दिए जाएंगे।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा था कि स्क्रीनिंग कमेटी के चेयरमैन अजय माकन शुक्रवार को 30-40 लोगों से मुलाकात करेंगे। उन्होंने बताया था कि पार्टी सभी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी। सिद्धू के अलावा समिति में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, अंबिका सोनी, सुनील जाखड़, प्रताप सिंह बाजवा शामिल हैं।