नासा उस एस्ट्रॉयड पर भेजेगा यान, जो पृथ्वी के हर इंसान को बना देगा अरबपति

0
272
Nasa psyche Astroid
(Image Courtesy: NASA/Psyche)

नई दिल्ली। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) एक ऐसे एस्ट्रॉयड की स्टडी करने की तैयारी में है, जो पृथ्वी के हर एक शख्स को अरबपति बना सकता है। दरअसल, यह एस्ट्रॉयड पूरी तरह से लोहे, सिलिका और निकल का बना है।

नासा वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर इसमें मौजूद धातुओं को बेच दिया गया, तो धरती पर रहने वाले हर व्यक्ति को 10 हजार करोड़ रुपए मिलेंगे।

इतनी है कीमत

नासा ने इस एस्ट्रॉयड का नाम 16 साइकी (16 Psyche) रखा है। इस पूरे एस्ट्रॉयड पर मौजूद लोहे की कुल कीमत करीब 10000 क्वॉड्रिलियन पाउंड है। यानी 10000 के पीछे 15 जीरो। इसकी स्टडी करने वाले स्पेसक्राफ्ट का नाम भी साइकी ही रखा गया है।

नासा का साइकी स्पेसक्राफ्ट साइकी 226 किलोमीटर चौड़े इस एस्ट्रॉयड का अध्ययन करेगा। स्पेसक्राफ्ट का क्रिटकिल डिजाइन स्टेज पूरा हो चुका है।

हर इंसान हो जाएगा अरबपति

इंडियाटाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, 10000 क्वॉड्रिलियन पाउंड (10,000,000,000,000,000,000 पाउंड) यानी धरती पर मौजूद हर आदमी को करीब 10 हजार करोड़ रुपये मिलेंगे। यह कीमत उस एस्ट्रॉयड पर मौजूद पूरे लोहे की है।

एस्ट्रॉयड 16 साइकी मंगल और बृहस्पति ग्रह के बीच घूम रहे एस्ट्रॉयड बेल्ट में है। खबर यह भी आई थी कि नासा ने स्पेस एक्स के मालिक एलन मस्क से मदद मांगते हुए कहा है कि वे इस एस्ट्रॉयड पर मौजूद लोहे की जांच के लिए अपने अंतरिक्षयान से मिशन शुरू करें।

पांच साल में सूरज का चक्कर लगाता है एस्ट्रॉयड

एस्ट्रॉयड 16 साइकी सूरज के चारों तरफ एक चक्कर पांच साल में लगाता है। इसका एक दिन 4.196 घंटे का होता है, जबकि इसका वजन धरती के चंद्रमा के वजन का करीब 1 फीसदी ही है।

नासा का कहना है कि इस एस्ट्रॉयड को धरती के करीब लाने की कोई योजना नहीं है। लेकिन इसपर जाकर इसके लोहे की जांच करने की योजना बनाई जा रही है। नासा की तैयारी है कि वह अगस्त 2022 में साइकी स्पेसक्राफ्ट को एस्ट्रॉयड 16 साइकी पर भेजे। अगर स्पेस एक्स अपने अंतरिक्षयान से कोई रोबोटिक मिशन इस एस्ट्रॉयड पर भेजेगा तो उसे वहां जाकर अध्ययन करके वापस आने में सात साल लगेंगे।