मोहल्ला क्लीनिक का कफ सीरप पीकर 3 बच्चों की मौत, केजरीवाल सरकार ने लिया एक्शन

नई दिल्ली: दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक (Mohalla Clinic) में मिलने वाले कफ सिरप डिस्ट्रोमेथोर्फन सिरप (Dextromethorphan Cough Syrup) की वजह से 3 बच्चों की मौत हो गई है। इस मामले में दिल्ली सरकार ने कड़ा एक्शन लिया है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मोहल्ला क्लीनिकों में तैनात 3 डॉक्टरों को सेवा से टर्मिनेट कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने दिल्ली मेडिकल काउंसिल से पूरे मामले की जांच करने का आग्रह किया है।

केंद्र सरकार ने दी थी जानकारी

गौरतलब है कि केंद्र सरकार के डायरेक्टर जनरल हेल्थ सर्विसेज (DGHS) ने 7 दिसंबर को दिल्ली सरकार के DGHS को एक पत्र भेजा था। उस पत्र में सूचना दी गई कि डिस्ट्रोमेथोर्फन सिरप पीने के बाद कलावती सरन अस्पताल में 16 बच्चे भर्ती कराए गए, जिनमें से 3 की मौत हो गई।

Mohalla Clinic के डॉक्टरों ने लिखी थी दवा

पत्र में बताया गया कि भर्ती हुए बच्चों को यह दवा दिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लीनिकों (Mohalla Clinic) में तैनात डॉक्टरों ने लिखी थी। जबकि यह दवा बच्चों के लिए लिस्टेड नहीं थी। केंद्र सरकार के DGHS ने दिल्ली सरकार से आग्रह किया कि वह अपने सभी मोहल्ला क्लीनिकों और डिस्पेंसरी को नोटिस जारी कर बताएं कि वे 4 साल से छोटे बच्चों के लिए डिस्ट्रोमेथोर्फन सिरप न लिखें।

ये भी पढ़ें: S-400 Air Defense System: पंजाब में तैनात हुआ S-400 एयर डिफेंस सिस्टम

जांच में खराब निकली दवा की क्वालिटी

इस पत्र के बाद दिल्ली सरकार ने दवा की जांच करवाई तो उसकी क्वालिटी सही नहीं पाई गई। इधर, बच्चों की मौत का मामला सामने आने के बाद बीजेपी और कांग्रेस ने केजरीवाल सरकार पर लापरवाही के आरोप लगाए। मामला गंभीर होते देख दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने प्रेस वार्ता करके कहा कि इस मामले में जांच के बाद मोहल्ला क्लीनिक (Mohalla Clinic) पर तैनात 3 डॉक्टरों की सेवा खत्म कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि इस मामले की गहराई से जांच करने के लिए 4 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार ने तीनों डॉक्टरों का लाइसेंस कैंसल करने के लिए दिल्ली मेडिकल काउंसिल से अपील भी की है।