अमेरिकी विदेश मंत्री Mike Pompeo का खुलासा, चीन ने LAC पर तैनात किए 60 हजार सैनिक

0
303
अमेरिकी विदेश मंत्री Mike Pompeo का खुलासा, चीन ने LAC पर तैनात किए 60 हजार सैनिक
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. भारत और चीन (Indo China) के बीच रिश्ते सुधरने के हालात फिलहात तो नहीं दिख रहे हैं. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (Mike Pompeo) का कहना है कि चीन ने भारत की उत्तरी सीमा पर 60 हजार सैनिकों को तैनात किया है. पोम्पिओ (Mike Pompeo) ने टोक्यो से लौटने के बाद एक चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान यह बात कही.

पोम्पिओ (Mike Pompeo) ने मंगलवार को टोक्यो में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की थी और उन्होंने इंडो-पैसिफिक और दुनिया भर में अग्रिम, शांति, समृद्धि और सुरक्षा के लिए एक साथ काम करने की आवश्यकता को रेखांकित किया. उन्होंने जयशंकर के साथ अपनी मुलाकात को अच्छा बताया.

मई में शुरू हुआ था गतिरोध

भारत और चीन के बीच मई के शुरुआती दिनों से ही पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध चल रहा है. इससे दोनों देशों के संबंध काफी तनावपूर्ण हो गए हैं. दोनों पक्षों ने तनाव कम करने के लिए कई कूटनीतिक और सैन्य वार्ता भी की, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली है. आपको बता दें कि इस बीच चीन ने अगस्त के अंतिम सप्ताह में पैंगोंग झील के दक्षिणी तट में भारतीय क्षेत्र पर कब्जे का असफल प्रयास किया.

फॉक्स न्यूज को दिए अपने एक इंटरव्यू में अमेरिकी विदेश मंत्री Mike Pompeo ने कहा, ‘हम अमेरिकी लोगों को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के खतरे से बचाने का लक्ष्य रखते हैं.” क्वाड मंत्रिस्तरीय बैठक का हवाला देते हुए Mike Pompeo ने कहा कि तीन अन्य देश जापान, भारत और ऑस्ट्रेलिया एक गठबंधन बना रहे हैं. ये देश भी चीनी कम्युनिस्ट पार्टी से खतरे को उसी तरह समझते हैं जैसा हम समझते हैं.”

भारत-चीन के बीच कोर कमांडर वार्ता के 7वें दौर की बैठक

शीर्ष सैन्य अधिकारियों ने 12 अक्टूबर को चीनी सेना पीएलए के साथ होने वाली कोर कमांडर स्तर की वार्ता के सातवें दौर की रणनीति पर शुक्रवार को बातचीत की और पूर्वी लद्दाख में सुरक्षा हालात का जायजा लिया. पूर्वी लद्दाख में टकराव के बिंदुओं से सैनिकों की वापसी के लिए रूपरेखा तैयार करने के विशेष एजेंडा के साथ कोर कमांडरों की वार्ता हो रही है.

ये भी पढ़ें: अगर आपके पास भी है 1 रुपए का ये Antique Coin, तो इस जगह बेचकर कमा सकते हैं 25 लाख

सूत्रों ने कहा कि शीर्ष सैन्य अधिकारियों ने पूर्वी लद्दाख में हालात की समीक्षा की और सोमवार को होने वाली वार्ता में उठाये जाने वाले प्रमुख मुद्दों पर विचार-विमर्श किया. सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे और कई शीर्ष सैन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित थे. सूत्रों के अनुसार दोनों पक्ष वार्ता में जमीनी स्तर पर स्थिरता बनाये रखने तथा क्षेत्र में नए सिरे से तनाव पैदा कर सकने वाली कार्रवाई से बचने के लिए और कदम उठाने पर विचार कर सकते हैं.