MI vs DC: बुमराह-बोल्ट के बाद ईशान किशन ने फेरा दिल्ली की उम्मीदों पर पानी, 9 विकेट से जीता मुंबई

New Delhi: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के आखिरी डबल हेडर वीक के पहले मैच में मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स (MI vs DC) को एकतरफा 9 विकेट से हरा दिया।

मैच (MI vs DC) में जसप्रीत बुमराह (17/3) और ट्रेंट बोल्ट (21/3) की घातक गेंदबाजी के आगे दिल्ली (Delhi Capitals) के बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए और 9 विकेट पर 110 रनों का स्कोर ही खड़ा कर पाए। इस छोटे लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई (Mumbai Indians) को ओपनर डि कॉक और किशन ने जोरदार शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 68 रन जोड़ डाले।

इसके बाद मुंबई को कोई झटका नहीं लगा। किशन ने नाबाद 72 रनों के दौरान 47 गेंदों में 8 चौके और 3 छक्के जड़े। उन्होंने ही विनिंग सिक्स भी लगाया। डि कॉक ने 28 गेंदों में 2 चौके की मदद से 26 और सूर्यकुमार यादव ने 11 गेंदों में एक चौका की मदद से नाबाद 12 रन बनाए।

पॉइंट्स टेबल में और भी मजबूत हुई मुंबई

इस जीत के बाद जहां मुंबई इंडियंस के 18 अंक हो गए हैं और वह पॉइंट्स टेबल में अपनी टॉपर की स्थिति को और भी मजबूत करने में कामयाब रही तो दूसरी ओर दिल्ली की यह लगातार चौथी हार है। वह इस हार के बाद भी तीसरे नंबर पर है। यही नहीं, उसे प्लेऑफ में पहुंचने के लिए भी इंतजार करना होगा। उसे एक और मैच खेलना है, जो रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से 2 नवंबर को है।

घातक गेंदबाजी के आगे बेहाल दिखे दिल्ली के धुरंधर

इससे पहले मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट ने तीन-तीन विकेट झटक कर दिल्ली कैपिटल्स को 9 विकेट पर 110 रन पर रोक दिया। बुमराह ने चार ओवर में महज 17 रन दिए जबकि बोल्ट ने इतने ओवर में ही सिर्फ 21 रन खर्च किए। दिल्ली के लिए कप्तान श्रेयस अय्यर (25) ही मुंबई के गेंदबाजों का कुछ हद तक सामना कर सके जबकि विकेटकीपर ऋषभ पंत (21) जीवन दान मिलने के बाद भी बड़ा स्कोर करने में नाकाम रहे।

यूं गिरे विकेट

टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला करने के बाद मुंबई इंडियंस ने पहले ओवर से ही दिल्ली कैपिटल्स पर दबाव बना दिया। शानदार लय में चल रहे दिल्ली के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन पारी की तीसरी गेंद पर खाता खेले बगैर पविलियन लौट गए।

ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर सूर्यकुमार यादव ने पॉइंट पर उनका शानदार कैच लपका। अजिंक्य रहाणे की जगह टीम में वापस आए पृथ्वी साव ने तीसरे ओवर में बोल्ट के खिलाफ दो चौके जरूर लगाए लेकिन इस गेंदबाज ने विकेटकीपर क्विंटन डि कॉक के हाथों कैच कराके उनकी 10 रन की पारी को खत्म किया।

पावरप्ले में बने सिर्फ 22 रन

दिल्ली की टीम पावरप्ले के छह ओवरों में दो विकेट पर 22 रन ही बना सकी। दिल्ली की पारी का पहला छक्का आठवें ओवर में लगा जब श्रेयस अय्यर ने जयंत यादव की गेंद पर लॉन्ग ऑफ के ऊपर से शानदार शॉट लगाया। पंत को 10वें ओवर में कप्तान कीरोन पोलार्ड ने कूल्टर-नाइल की गेंद पर कैच छोड़कर जीवन दान दिया। पोलार्ड ने 11वें ओवर में स्पिनर राहुल चाहर को गेंद थमाई जिनकी गेंद अय्यर के बल्ले के करीब से निकली और विकेटकीपर डि कॉक ने गिल्लियां बिखेर कर उन्हें स्टंप किया। उन्होंने 29 गेंद में 25 रन बनाए।

फिर बुमराह ने ढाया कहर

इसके बाद क्रीज पर आए मार्कस स्टोइनिस भी कुछ खास नहीं कर सके और दो रन बनाकर बुमराह की गेंद को डि कॉक की हाथों में खेल गए। बुमराह ने इसी ओवर में पंत को भी चलता किया। मैदानी अंपायर के पगबाधा आउट देने के बाद उन्होंने रिव्यू लिया लेकिन इसका फायदा नहीं हुआ। मौजूदा आईपीएल में यह छठी बार है जब बुमराह ने एक ही ओवर में दो शिकार किए।

बुमराह ने इसके बाद हर्षल पटेल को भी पगबाधा किया जबकि नाथन कूल्टर-नाइल ने 16वें ओवर में शिमरोन हेटमायर (11) का विकेट लिया। दिल्ली के पुछल्ले बल्लेबाज भी कुछ खास नहीं कर सके और पूरी टीम 20 ओवर में नौ विकेट पर 110 रन ही बना सकी। कागिसो रबाडा रबाडा (12) आखिरी गेद पर रन आउट हुए। मुंबई के लिए कूल्टर-नाइल और राहुल चाहर ने भी एक-एक विकेट लिए।

यूं जीत गया मुंबई

जवाब में बैटिंग करने उतरी मुंबई इंडियंस ने धांसू शुरुआत की। ईशान किशन और क्विंटन डि कॉक ने सूझबूझ के साथ आक्रामक बैटिंग की और बिना कोई विकेट गंवाए टीम को 9वें ओवर में 50 रनों के पार पहुंचा दिया। स्कोर छोटा था और मुंबई ने अच्छी शुरुआत की तो दिल्ली के गेंदबाजों के पास करने के लिए बहुत कुछ नहीं था। उसके गेंदबाजों ने एक विकेट डि कॉक के रूप में जरूर लिया, लेकिन इसके अलावा कुछ और नहीं कर सके।