तिरंगे पर Mehbooba Mufti के बयान पर संग्राम, दिल्ली पुलिस ने दर्ज की शिकायत

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) द्वारा तिरंगे के खिलाफ दिए गए बयान पर दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है. इसके साथ ही शिकायतकर्ता ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से महबूबा मुफ्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने शुक्रवार को विवादित बयान देते हुए कहा था कि जब तक हमें हमारा जम्मू-कश्मीर का झंडा वापस नहीं मिल जाता हम तिरंगा झंडा नहीं उठाएंगे.

सुप्रीम कोर्ट के वकील ने दर्ज कराई शिकायत

महबूबा के इस बयान से नाराज सुप्रीम कोर्ट के वकील विनीत जिंदल ने महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के खिलाफ नेशनल ऑनर एक्ट समेत आईपीसी की धारा 121, 151, 153A, 295, 298, 504, 505 के तहत मामला दर्ज करने की मांग की है.

दिल्ली पुलिस कमिश्नर के नाम भेजी गई अपनी शिकायत में विनीत जिंदल ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के बयान ने एक चुनी हुई सरकार के खिलाफ लोगों को भ ड़;काने का काम किया है. साथ ही देश के राष्ट्रीय ध्वज का अपमान भी किया है. इसलिए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए.

क्या बोली थी महबूबा मुफ्ती

दरअसल जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने विवादित बयान देते हुए कहा है कि जब तक हमारा झंडा वापस नहीं मिल जाता हम दूसरा झंडा नहीं उठाएंगे.

ये भी पढ़ें: छोटे-छोटे मामलों में भी घुसने लगी CBI, अब ये बिल्कुल नहीं चलेगा : Sanjay Raut

शुक्रवार को महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने श्रीनगर में प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक देश, दो झंडे वाली सियासत को एक बार फिर से आगे बढ़ाया. महबूबा ने पहले तो कहा कि वह अनुच्छेद 370 को वापस लेकर ही रहेंगी और ऐसा जबतक नहीं हो जाता है वो कोई चुनाव नहीं लड़ेंगी. इसके अलावा महबूबे ने भारत के राष्ट्रध्वज तिरंगे को लेकर भी अपमानजनक टिप्पणी की. महबूबा ने कहा “जिस वक्त हमारा ये झंडा वापस आएगा, हम उस (तिरंगा) झंडे को भी उठा लेंगे. मगर जब तक हमारा अपना झंडा, जिसे डाकुओं ने डाके में ले लिया है, तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगे. वो झंडा हमारे आईन का हिस्सा है, हमारा झंडा तो ये है. उस झंडे से हमारा रिश्ता इस झंडे ने बनाया है.”