महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने 5 अगस्त को बताया काला दिन, बोली-किस बात का जश्न मनाएं

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने 5 अगस्त को काला दिन बताया है। दरअसल जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के एक साल पूरा होने से पहले इल्तिजा ने यह बयान दिया है।

इल्तिजा मुफ्ती ने कहा है कि जम्मू कश्मीर में दहशत का माहौल बनाया जा रहा है। किसी को भी यहां बोलने की आजादी नहीं है।

मेरी मां को क्यों कैद कर रखा है

एक निजी समाचार चैनल से बात करते हुए इल्तिजा मुफ्ती ने कहा, “5 अगस्त हमारे लिए ऐतिहासिक दिन नहीं है। 5 अगस्त हमारे लिए एक काला दिन है। मैं इस सवाल का जवाब नहीं दे सकती कि गृह मंत्रालय ने मेरी मां को कैद क्यों नहीं किया। संदेश यह है कि वह मेरी मां के मामले को एक उदाहरण बनाना चाहता है। ”

इल्तिजा मुफ्ती ने कहा कि जम्मू और कश्मीर से धारा 370 के उन्मूलन के खिलाफ एक सामूहिक संघर्ष की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर में अब कोई स्वतंत्र नहीं है, यहां भय का माहौल तैयार किया गया है। सभी लोग जेल में हैं। वसीम बारी की ह;त्या इस बात का प्रमाण है कि 370 को हटाने के साथ आ’तं;क;वाद खत्म नहीं होगा।

महबूबा की हिरासत बढ़ी

इससे पहले केंद्र ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती की हिरासत तीन महीने के लिए बढ़ा दी है। केंद्र सरकार ने उन्हें सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत नजरबंद कर दिया है। 2019 में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद से महबूबा मुफ्ती हिरासत में हैं।