PM मोदी के इवेंट पर ममता हुईं नाराज, बोलीं- इस अस्पताल का पहले ही कर चुकी हूं उद्घाटन!

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल (West Bengal News) के कोलकाता में चित्तरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के दूसरे परिसर का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया। इस दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) भी कार्यक्रम में शामिल हुईं। लेकिन कार्यक्रम के दौरान ममता की नाराजगी एक बार फिर दिखी।

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने दावा किया कि पीएम मोदी (PM Modi) जिस हॉस्पिटल का उद्घाटन कर रहे हैं, उसके कैंपस का हम पहले ही उद्घाटन कर चुके हैं।

ममता ने सबसे पहले एंकर पर नाराजगी जताते हुए कहा, तुम मेरा टाइटल भी भूल गईं या आप नर्वस हो गईं। उन्होंने कहा, स्वास्थ्य मंत्री ने इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दो बार फोन किया था। मैंने सोचा की कोलकाता का यह कार्यक्रम है, इसमें पीएम मोदी दिलचस्पी दिखा रहे हैं। मैं शामिल रहूं। लेकिन पीएम मोदी को बताना चाहती हूं कि इसका उद्घाटन हमने पहले ही कर दिया था। कोरोना में हमें सेंटर्स की जरूरत थी। इस दौरान हमने देखा कि चित्तरंजन हॉस्पिटल राज्य से जुड़ा है। ऐसे में हमने इसका उद्घाटन कर दिया और इसको कोरना सेंटर बना था। यह काफी मददगार साबित हुआ।

25% राशि हम दे रहे हैं- ममता

ममता ने कहा, राज्य सरकार कैंसर हॉस्पिटल के लिए 25% बजट दे रही है। उन्होंने कहा, इस अस्पताल के लिए राज्य सरकार ने 11 एकड़ की जमीन दी है। उन्होंने कहा, इसलिए जब बात जनता की आती है, तो राज्य और केंद्र सरकार को एक साथ काम करना चाहिए।

ममता ने कहा, पीएम की जानकारी के लिए बता दें, हमारी सरकार आने से पहले स्वास्थ्य सुविधाएं काफी खराब थीं। हमने यहां महिलाओं, बच्चों के लिए, आईसीयू अस्पताल बनाए। उन्होंने कहा, हमारे राज्य में पहाड़ हैं, समुद्र है और जंगल है। ऐसे में कई स्थानों पर स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना मुश्किल था। लेकिन हमने सबको ध्यान में रखकर प्लान के तहत काम किया है।

ममता ने मांगी कोरोना वैक्सीन

ममता ने मेडिकल में केंद्र को कोटा बढ़ाना चाहिए। ममता ने कहा, कोरोना काल में अगर एक अस्पताल में 75-75 डॉक्टर कोरोना से संक्रंमित हो रहे हैं। ऐसे में इलाज कैसे होगा? सबसे पहले मेडिकल सीटों को बढ़ाना चाहिए।

ममता ने कहा, कोरोना से संक्रमण ज्यादा है। इसमें मृत्युदर कम हैं। चिंता करने की भी ज्यादा जरूरत नहीं है। ममता ने कहा, लेकिन हमें कोरोना की वैक्सीन चाहिए। अभी दूसरी डोज का 44% नहीं मिला। आपने बूस्टर डोज की बात की है, ये अच्छी बात है। लेकिन बूस्टर डोज तभी लग पाएगी, जब हमें दूसरी डोज पूरी मिल जाएगी। कभी कभी केंद्र और राज्य सरकार को साथ मिलकर काम करना चाहिए।