Maharashtra Police ने Arnab Goswami के खिलाफ दर्ज की चार्जशीट, 65 लोगों को बनाया गवाह

मुंबई: महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) ने रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) के खिलाफ 2018 के खुद कु शी के लिए उकसाने के मामले में चार्जशीट फाइल कर दी है. ये चार्जशीट महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) ने अलीबाग की एक अदालत के समक्ष दायर की है. ये वही अदालत है जहां इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां कुमुद को आ त्म ह त्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया है.

सरकारी वकील की ओर से बताया गया है कि चार्जशीट में अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) के अलावा फिरोज शेख और नीतीश शारदा के नाम आरोपी के रूप में लिए गए हैं. विशेष लोक अभियोजक प्रदीप घरात ने ज्यादा जानकारी देते हुए बताया कि चार्जशीट में 65 लोगों को गवाह बनाया गया है.

जांच रोकने के लिए अर्नब ने लगाई गुहार

इससे पहले रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) ने गुरुवार को बंबई हाई कोर्ट (Bombay High Court) में एक याचिका दायर कर 2018 के अनवय नाइक को खु द कु शी के लिए उकसाने के मामले में चार्जशीट दायर करने और आगे की जांच पर रोक लगाने की मांग की थी. लेकिन इस याचिका पर अभी सुनवाई नहीं हुई है.

क्या था पूरा मामला?

दरअसल, महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) ने अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami), शेख और शारदा को उक्त मामले में 4 नवंबर को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद उन्हें 11 नवंबर को हाई कोर्ट से जमानत मिल गई थी. आरोप है कि अन्वय नाइक और उनकी मां कुमुद ने 2018 में आ त्म ह त्या कर ली थी क्योंकि अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) और अन्य दो आरोपियों की कंपनियों द्वारा द्वारा कथित तौर पर बकाए का भुगतान नहीं किया गया था.

ये भी पढ़ें: बिल्डर से रिश्वत मांग रहे थे BJP पार्षद Manoj Mehlawat, CBI ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

यह मामला 2019 में सबूतों के अभाव में बंद कर दिया गया था लेकिन इस साल मई में मामले को फिर से खोला गया था. इस पर गोस्वामी (Arnab Goswami)ने आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र सरकार एक टीवी पत्रकार के रूप में उनके काम को लेकर उनके खिलाफ प्रतिशोध ले रही है.